सेहतमंद शरीर के लिए मजबूत मसल्स यानी मांसपेशियों का होना बहुत जरूरी है. नौजवान लड़केलड़कियां जिम में मेहनत करने चले तो जाते हैं लेकिन कसरत करने के बाद उन्हें क्या खानापीना चाहिए, इस के बारे में वे लापरवाही बरत जाते हैं.

अब आप प्रोटीन को ही लीजिए. मसल्स को फिट रखने के लिए प्रोटीन से भरपूर भोजन करना बहुत जरूरी होता है.

प्रोटीन न सिर्फ मसल्स को बनाने में मदद करता है, बल्कि यह हमारे शरीर की टूटफूट की मरम्मत भी करता है. बैलैंस बौडी बनाने के लिए बैलैंस डाइट का होना भी बेहद जरूरी है. इस के लिए आप के भोजन में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और वसा का बैलैंस होना चाहिए.

कुदरत की बात करें तो पालक और दूसरी हरी सब्जियां मसल्स के लिए बहुत फायदेमंद रहती हैं. भारी कसरत करने के बाद मसल्स को आराम की जरूरत होती है. हरी सब्जियां मसल्स को रिलैक्स करने में भी मदद करती हैं.

सूखे मेवों, पनीर, दूध वगैरह में भी खूब प्रोटीन पाया जाता है. कसरत करने वालों को इन का सेवन जरूर करना चाहिए. काजू, बादाम और अखरोट को भी सही मात्रा में खाना चाहिए.

अगर आप मांसाहारी हैं तो प्रोटीन की कमी को पूरा करने के लिए अंडा, मांस, चिकन और टर्की लीन मीट को भोजन का हिस्सा बनाया जा सकता है.

अगर कोई शख्स जिम में पसीना बहाता है और सही मात्रा में प्रोटीन नहीं ले पाता है तो समझ लीजिए कि मसल्स के लिए ईंधन रूपी प्रोटीन न मिलने से उस का ईंधन खत्म होता?है और मसल्स मजबूत बनने के बजाय और भी कमजोर हो जाती हैं.

इस के अलावा प्रोटीन हमारी बौडी में ह्वाइट ब्लड सैल वगैरह बनाने में मदद करता है जो हमें कई बीमारियों से बचाती हैं.

कुदरत से मिलने वाले प्रोटीन के अलावा बाजार में कई तरह के प्रोटीन सप्लीमैंट भी मिलते हैं जो हमारे शरीर में प्रोटीन की कमी को पूरा करते हैं.

ऐसे प्रोटीन किसी माहिर डाक्टर की सलाह पर लेने चाहिए क्योंकि जब से इन का बाजार बढ़ा है, तब से इन की क्वालिटी भी शक के दायरे में आ गई है.

जिम चलाने वाले ट्रैनर लोगों को ऐसे प्रोटीन सप्लीमैंट लेने की सलाह दे तो देते हैं, लेकिन ज्यादातर यह नहीं बता पाते हैं कि बाजार में मुहैया कौन सा प्रोटीन सप्लीमैंट सेहत के लिए सही है.

अगर अच्छी क्वालिटी का प्रोटीन सप्लीमैंट मिल भी जाता है तो उसे कितनी मात्रा में खाना है, यह भी पता होना चाहिए. इन का ज्यादा सेवन करना भी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है.

अमूमन किसी बालिग को 50 से 70 ग्राम प्रोटीन अपने रोजाना के भोजन में शामिल करना चाहिए. अगर आप जिम में कसरत करते हैं तो किसी माहिर डाक्टर से अपने शरीर के हिसाब से प्रोटीन की मात्रा पता कर लेनी चाहिए.

इस मसले पर फरीदाबाद में अपना फिटनैस ग्रुप चलाने वाले कपिल गुप्ता ने बताया कि अब तो अखाड़ों में कुश्ती लड़ने वाले पहलवान भी डाइट चार्ट के मुताबिक खातेपीते हैं. प्रोटीन सप्लीमैंट की डिमांड भी खूब जोर पकड़ रही है, बस इस बात का खयाल जरूर रखना चाहिए कि किसी के लालच में आप नकली प्रोटीन सप्लीमैंट का सेवन तो नहीं कर रहे हैं, क्योंकि यह आप की सेहत के लिए खतरनाक भी साबित हो सकता है.