इंटरव्यू

हमारा नाश बर्गर कर रहा है : अमोल गुप्ते

हाल ही में प्रदर्शित बाल फिल्म ‘हवा हवाई’ के लेखक, निर्देशक व निर्माता अमोल गुप्ते किसी परिचय के मुहताज नहीं है. 2008 में प्रदर्शित फिल्म ‘तारे जमीं पर’ के लिए सर्वश्रेष्ठ कहानीकार व पटकथा लेखक के लिए फिल्मफेअर सहित कई अवार्ड जीत चुके अमोल गुप्ते का दावा है कि ‘तारे जमीं पर’ के रिलीज के बाद शिक्षा क्षेत्र में काफी बदलाव आया है. वे ‘कमीने’, ‘उर्मि’, ‘स्टेनली का डिब्बा’, ‘भेजा फ्राय’ सहित कई फिल्मों में विलेन के किरदार निभा चुके हैं. पेश हैं उन से हुई बातचीत के खास अंश :

आप फिल्मों में हमेशा विलेन के किरदारों में नजर आते हैं जबकि आप लेखक व निर्देशक के रूप में बहुत ही इमोशनल बाल फिल्में बनाते हैं. इतना बड़ा अंतर क्यों?

फिल्म इंडस्ट्री में भेड़चाल है. एक बार आप ने जिस तरह का काम कर लिया, आप को बारबार उसी तरह के काम को करने के औफर मिलते हैं. विशाल भारद्वाज ने फिल्म ‘कमीने’ में मुझे एक बार कमीना बना दिया, उस के बाद से हर फिल्म में लोग मुझे कमीना बना कर ही पेश करते आ रहे हैं.

दूसरी बात, एक किताब है ‘क्राइम ऐंड पनिशमैंट’. इस में जितने गहरे किरदार हैं उतने गहरे किरदार निभाने के मौके तो मुझे मिलने से रहे. जबकि मैं बच्चों के लिए अच्छी स्क्रिप्ट लिखता रहता हूं. जिस तरह के किरदार बलराज साहनी निभाया करते थे, उस ढांचे के किरदार कोई लिखे तो बात समझ में आए. लेकिन हम जिस तरह की जिंदगी जी रहे हैं, उस तरह के चरित्र बचे नहीं हैं. हमारा नाश बर्गर कर रहा है. इसी संस्कृति ने सोवियत यूनियन को भी बरबाद कर दिया. जबकि कभी सोवियत यूनियन रिफाइंड देश था. पूंजीवाद हर किसी को बरबादी के कगार पर ही ले जाता है.

हाल ही में आप की फिल्म ‘हवा हवाई’ रिलीज हुई, जिसे काफी सराहा जा रहा है?

इस की वजह इतनी है कि मैं ने इस फिल्म में उस सपने की बात की है जोकि इंसान को सोने नहीं देता. मैं ने सवाल उठाया है कि जेब में दमड़ी न हो तो क्या आप को या आप के बच्चे को सपने देखने का हक नहीं है? हम ने ‘हवा हवाई’ में 5 बच्चों के सपनों को पूरा करने की जद्दोजेहद को दिखाया है. मूल्यों की भी बात की है. हमारी फिल्म कुछ भी न होते हुए भी बहुत बड़ा कारनामा कर जाने की दास्तान है. यह हर वर्ग के हर इंसान के जद्दोजेहद की कहानी है.

आप की हर फिल्म में बच्चों से जुड़ा मुद्दा होता है?

मैं समझ गया हूं कि नए भारत को ‘शुगर कोटेड’ गोली चाहिए. इसलिए मैं उसी हिसाब से फिल्म बना रहा हूं. मैं फिल्मों में उपदेशात्मक भाषणबाजी देने के बजाय दृश्यों में इस तरह से बात कह जाता हूं कि फिल्म देखते हुए लोग समझ जाएं. मैं ने फिल्म ‘तारे जमीं पर’ में देश की शिक्षा प्रणाली पर कटाक्ष किया था. आप को शायद यकीन न हो, मगर ‘तारे जमीं पर’ की रिलीज के बाद सरकार ने शिक्षा का पूरा ढांचा ही बदल दिया.

आप के अनुसार बच्चों से जुड़ी सब से बड़ी समस्या क्या है?

बच्चों से जुड़ी तमाम समस्याएं हैं और हर समस्या के लिए प्रौढ़/वयस्क इंसान दोषी हैं. वे बच्चों को कोई अहमियत नहीं देते. राजनेता भी बच्चों पर ध्यान नहीं देते. यदि बच्चों को वोट देने का अधिकार होता तो शायद उन पर ध्यान दिया जाता. इस वजह से बच्चों को जो आत्मसम्मान मिलना चाहिए, वह नहीं मिल रहा है.

पर हर मातापिता एक ही रट लगाए रहता है कि आज के बच्चे बुजुर्गों की इज्जत नहीं करते?

बच्चे बड़ों से ही तो सीखते हैं. यदि एक इंसान अपने मातापिता की इज्जत नहीं करता है और यह बात उस का बेटा या बेटी देखते हैं, तो वे भी उन की इज्जत नहीं करते. इस के अलावा मुझे लगता है कि हमारी भारतीय संस्कृति बच्चों पर जरूरत से ज्यादा बोझ डालती है. भारतीय संस्कृति सिर्फ बच्चों पर ही कई तरह की पाबंदी लगाती है. हमारी भारतीय संस्कृति में नियम है कि बच्चा घर आने वाले हर इंसान के पैर छुए. पर क्यों? जरूरत यह है कि आप अपनी इज्जत इस तरह की बनाएं कि बच्चा खुद आप की इज्जत करना चाहे.

इतना ही नहीं, हमारे यहां एक नई संस्कृति पैदा हो गई है, वह है रिऐलिटी शो. मातापिता अपने सपनों को अपने बच्चों के माध्यम से पूरा होते देखने के लिए उन्हें रिऐलिटी शो में भेज कर उन का भविष्य बरबाद कर रहे हैं.

आप मानते हैं कि टीवी पर प्रसारित हो रहे रिऐलिटी शो में बच्चों को ला कर उन के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है तो इस के खिलाफ कोई मुहिम क्यों नहीं चलाते?

मैं सरकार को कई पत्र लिख चुका हूं पर सरकार ने मेरे एक भी पत्र का जवाब नहीं दिया. इसलिए अब मैं इस मुहिम को स्कूल प्रिंसिपल के साथ मिल कर चला रहा हूं. मैं ने 2 हजार स्कूल के प्रिंसिपल से बात की है. उन से कहा है कि वे अपने स्कूल के बच्चों को बाहर न जाने दें. जब स्कूल के प्रिंसिपल बच्चे को इजाजत नहीं देंगे तो बच्चे रिऐलिटी शो के साथ नहीं जुड़ पाएंगे. तभी बदलाव आएगा. मैं ने 2 फिल्में बनाईं. मैं ने कभी भी 4 घंटे से ज्यादा बच्चों से काम नहीं करवाया. मगर रिऐलिटी शो वाले तो 12 घंटे और लगातार कई माह तक काम करवाते हैं, जो कि गलत है. स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे को रिऐलिटी शो में आने से शोहरत तो मिलती है पर यह शोहरत सिर्फ चंद दिनों की ही होती है.

बाद में वह डिप्रैशन का शिकार हो जाता है. यह समाज की बीमारी हो गई है. इस पर अंकुश लगाने की जरूरत है.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं
INSIDE SARITA
READER'S COMMENTS / अपने विचार पाठकों तक पहुचाएं

A licensed eectrician can readily fix that problem. Does it slant from the main wakl in the house. For example, one major area of problem is plumbing.

Four terrorist bombs exploded on the London transport system killing 52 people.

This piece of writing presents clear idea designed for the new viewers of blogging, that truly how to do blogging and site-building.

Howdy I am so glad I found your web site, I really found you by accident, while I was looking on Askjeeve for something else, Anyhow I am here now and would just like to say thanks a lot for a incredible post and a all round enjoyable blog (I also love the theme/design), I don't have time to go through it all at the minute but I have bookmarked it and also added your RSS feeds, so when I have time I will be back to read more, Please do keep up the excellent job.

Like anything else, blogging has evolved over time. Perhaps like the life of a painter oor writer. You don't even must sell any product or service.

Hi there I am so delighted I found your weblog, I really found you by mistake, while I was searching on Google for something else, Nonetheless I am here now and would just like to say thank you for a marvelous post and a all round enjoyable blog (I also love the theme/design), I don't have time to go through it all at the moment but I have saved it and also added your RSS feeds, so when I have time I will be back to read more, Please do keep up the awesome work.

I'm really enjoying the theme/design of your blog. Do you ever run into any internet browser compatibility issues? A few of my blog audience have complained about my website not working correctly in Explorer but looks great in Safari. Do you have any recommendations to help fix this issue?

"It is difficult to say uniformly what the absolute risk is because fracture risk shows many differences according to age, sex, race and ethnicity," said study lead author Dr. But make no worries since there are drugs and natural treatments that may give you relief for that pain of acid reflux disease. They are not prescribed as often because they produce various side effects such as depression, anxiety, and some neurological problems.

I'm not sure where you're getting your information, but great topic. I needs to spend some time learning more or understanding more. Thanks for magnificent information I was looking for this info for my mission.

I'm impressed, I must say. Rarely do I encounter a blog that's both educative and entertaining, and without a doubt, you have hit the nail on the head. The issue is something which too few people are speaking intelligently about. Now i'm very happy that I stumbled across this during my hunt for something concerning this.

Hello there, I discovered your site by the use of Google while looking for a related matter, your site got here up, it looks good. I have bookmarked it in my google bookmarks. Hello there, just became aware of your weblog through Google, and located that it is really informative. I'm gonna watch out for brussels. I'll be grateful when you continue this in future. Many people can be benefited from your writing. Cheers!

Now we should get busy writing great original articles. Video marketing may be a bit intimidating at first. Companies similar to this are usually quite affordable.

Also, inquire relating to home inspection reports. Does it slant away from the main wall of the house. As well, we've included links to the major banks.

Pretty! This was a really wonderful article. Many thanks for providing this info.

Does your website have a contact page? I'm having a tough time locating it but, I'd like to send you an email. I've got some suggestions for your blog you might be interested in hearing. Either way, great website and I look forward to seeing it improve over time.

It is also possible that some of the sources used in the article come from personal observations.

Wow! Eventually I got a weblog from where I can truly get useful facts concerning my study and knowledge.

Although you can't win without upgrading your first buggy car a few times, I would suggest you don't focus on it for too long. This will allow you to try all the skills and abilities available in the game. Also there is no specific dress code like in land based gambling as online gaming can be accomplished within the comforts of home.

Does your site have a contact page? I'm having problems locating it but, I'd like to send you an email. I've got some recommendations for your blog you might be interested in hearing. Either way, great blog and I look forward to seeing it develop over time.

All 3 business types have their pluses and minuses. Just remember pedople buy from people they like. Be as prepared as you should be to go on a huge show.

Stunning story there. What occurred after? Thanks!

I must many thanks for the efforts you have invest penning this blog. I really hope to view the same high-grade content by you later on also. Actually, your creative writing abilities has motivated me to obtain my very own site now ;)

I also learned to twist metals to hold some precious gemstones and made them into necklaces, brooches and necklaces.

Amazing! This website looks just like my old one! It's on the entirely different subject but it has just about a similar page layout and design. Wonderful collection of colors!

Very good post. I am going to be going through a few of these issues too..

Leave comment

  • You may embed videos from the following providers flickr_sets, youtube. Just add the video URL to your textarea in the place where you would like the video to appear, i.e. http://www.youtube.com/watch?v=pw0jmvdh.
  • Use to create page breaks.

More information about formatting options

CAPTCHA
This question is for testing whether you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.
Image CAPTCHA
Enter the characters shown in the image.