व्यंग्य

वफादारी का हलफनामा
By अशोक गौतम | 17 January 2017
वफादारी के मामले में मैं कुत्तों से भी ज्यादा भरोसेमंद था अपनी बेगम का. लेकिन बीवी को मुझ पर न तो भरोसा था और न दयाभाव. इसलिए बंदूक की नोक पर हलफनामे पर हस्ताक्षर करवाया जा रहा है.