व्यंग्य

कथा आधुनिक ऋषियों की
By अतुल कनन | 18 July 2017
भारत कभी कृषि प्रधान देश हुआ करता होगा लेकिन अब तो यह ऋषि प्रधान देश बन चुका है. यहां किसी की तूती के बजाय ऋषियों के प्रवचन बजते हैं.