सरिता विशेष

हर साल की तरह आईपीएल 10 में भी बड़े-बड़े और महंगे क्रिकेटरों पर बातें हो रही है, लेकिन इन बड़े नामों के बीच कुछ स्थानीय क्रिकेटर आईपीएल के जरिए अपनी प्रतिभा को पहचान दे रहे हैं.

आईपीएल के हर सीजन में क्रिकेट जगत को कुछ नए सितारे मिलते हैं. खासतौर पर टीम इंडिया में नए खिलाड़ियों की एंट्री के लिए रणजी की तरह ही आईपीएल को तवज्जो दी जाने लगी है. ऐसे में आईपीएल में खिलाड़ियों का प्रदर्शन उनके अंतरराष्ट्रीय करियर की दिशा भी तय करता है.

यूं तो आईपएल के 10 सालों के सफर में कई स्थानीय क्रिकेटर हीरो की तरह उभर कर सामने आए हैं और राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इन्होंने अपनी पहचान बनाई है. आईपीएल 10 में भी ऐसे कई ऐसे खिलाड़ी शामिल हैं, जिनका नाम शायद आपने पहले ही कभी सुना हो. तो आईए जानें, इस आईपीएल सीजन में किन नए प्लेयर्स ने दिखाया दम.

ऋषभ पंत (दिल्ली डेयरडेविल्स)

पिता की मौत के बाद खेले मैच में 57 रन की पारी खेलने के बाद चर्चा में आए ऋषभ पंत ने अपने खेल से बताया है कि वह लंबी दूरी तय करने वाले हैं. कोलकाता के खिलाफ 16 गेंदों में 38 रन की पारी हो या फिर पुणे से मुकाबले में 22 गेंदों पर 31 रन बनाने की बात हो, पंत ने यह साबित किया है कि वह भारतीय क्रिकेट में एक स्टार के तौर पर उभर रहे हैं.

नीतीश राणा (मुंबई इंडियंस)

मध्यक्रम के इस 22 वर्षीय बल्लेबाज ने अपने बेहतरीन शॉट चयन और अच्छे खेल से क्रिकेट दिग्गजों को हैरान किया है. दिल्ली के इस लड़के ने अपनी टीम के लिए दो बार (सनराइजर्स हैदराबाद और किंग्स इलेवन पंजाब के खिलाफ) मैच जिताऊ पारियां खेली हैं. 135 के स्ट्राइक रेट से खेलते हुए राणा ने निरंतरता और गति दोनों का शानगार मिश्रण दिखाया है.

मनन वोहरा (किंग्स इलेवन पंजाब)

आईपीएल 2017 में एक स्टार के रूप में उभरने की सारी प्रतिभा मनन वोहरा में दिखाई पड़ रही है. अब तक मनन 6 पारियों में 176 रन बना चुके हैं. सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ बनाये गये उनके 95 रन अब तक का उनका अधिकतम स्कोर है. यानी अब तक मनन यह दिखा चुके हैं कि वह एक आक्रामक बल्लेबाज हैं और जब चाहें रन गति को बढ़ा सकते हैं. अभी आईपीएल 2017 का लंबा सफर बचा है और यदि मनन इस गति से रन बनाते रहे तो उन्हें स्थानीय से राष्ट्रीय हीरो बनने में वक्त नहीं लगेगा.

राहुल त्रिपाठी (राइजिंग पुणे सुपरजायंट्स)

पुणे ने 26 वर्षीय राहुल त्रिपाठी को महज 10 लाख रुपये में खरीदा था, लेकिन उन्होंने अपनी कीमत से कहीं ज्यादा कीमती खेल दिखाया है. सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 41 गेंदों में 59 रन और मुंबई इंडियंस के खिलाफ 31 गेंदों में 45 रन बनाकर त्रिपाठी ने खुद को साबित किया है. त्रिपाठी को लेटबूमर कहा जा रहा है.

संजू सैमसन (दिल्ली डेयरडेविल्स)

सिर्फ 22 साल के संजू सैमसन पहली बार आईपीएल नहीं खेल रहे. पिछले सीजन में भी उन्होंने खुद को साबित किया है. पुणे सुपरजायंट्स के खिलाफ 63 गेंदों में 102 रन की उनकी पारी भविष्य में उन्हें टीम इंडिया के नियमित प्लेयर के तौर पर स्थापित होने का मौका दे सकती है. इस सीजन में उन्होंने केकेआर और सनराइजर्स के खिलाफ बेहतरीन बैटिंग की.

मनन वोहरा (किंग्स इलेवन पंजाब)

सैमसन की ही तरह मनन वोहरा भी अपनी टीम के लिए भरोसेमंद साबित हुए हैं. उन्हें आईपीएल की देन कहा जा सकता है. किंग्स इलेवन पंजाब के लिए वह धुआंधार सलामी बल्लेबाज साबित हुए हैं. सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ 23 वर्षीय वोहरा ने 50 गेंदों पर 95 रन की पारी खेलकर अपने इरादे जाहिए किए थे.