कल तक का गुमनाम खेल कबड्डी अब सुर्खियों में है. बड़ेबड़े धनकुबेरों ने गांवगांव से कबड्डी के धुरंधरों को लाखों रुपए दे कर राज्यों की टीम की शक्ल में खरीद लिया है. धूलमिट्टी की कबड्डी अब पांचसितारा होटलों तक पहुंच चुकी है. गांव, देहात, कसबों और शहरों के गलीकूचों में खेले जाने वाला कबड्डी का खेल अब इंडोर स्टेडियमों की दूधिया रोशनी में खेला जाएगा. जी हां, हम बात कर रहे हैं प्रो-लीग कबड्डी की. महान क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर, बौलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन, अभिनेता अभिषेक बच्चन, ऐश्वर्या राय, बौलीवुड के शहंशाह शाहरुख खान, आमिर खान, जया बच्चन, उद्योगपति आनंद महिंद्रा, टीना अंबानी, राज कुंद्रा के अलावा तमाम मशहूर हस्तियों की उपस्थिति में इस लीग का उद्घाटन हुआ.

क्रिकेट मैच देखतेदेखते खेल प्रशंसक शायद ऊब चुके हैं. क्योंकि 34 दिनों तक चलने वाले इस मेले का सीधा प्रसारण स्टार स्पोर्ट्स टैलीविजन पर हो रहा है जिस में दर्शक नए तरह की कमेंट्री से दोचार हो रहे हैं. खेलप्रेमियों को नए तरह का आनंद मिल रहा है.

गांव, देहातों में कोई ऐसा स्कूल नहीं होगा जहां कबड्डी न खेली जाती हो, यह सब से कम खर्च में खेला जाने वाला खेल है. देश में इस के तकरीबन 3,944 रजिस्टर्ड क्लब हैं.

लेकिन अब यह खेल भी पेशेवर हो रहा है. दरअसल, बड़ीबड़ी हस्तियों ने इस खेल की फ्रेंचाइजी खरीदी है. वे इस बात को जानतेसमझते हैं कि बड़ीबड़ी कंपनियों के उत्पाद को अब गांवों, देहातों या कसबों तक कैसे पहुंचाया जाए. इसलिए धनकुबेरों ने अपने उत्पादों को पहुंचाने के लिए उन खेलों को चुना जो गांवगांव में खेले जाते हों.

खैर, चाहे जो भी हो लेकिन इस से एक फायदा यह जरूर हो गया कि एशियन गेम्स तक सफर करने वाली कबड्डी अब हाशिए पर नहीं रहेगी और इसे अंतर्राष्ट्रीय मंच पर एक नई पहचान मिलेगी. साथ ही, आर्थिक स्थिति से जूझ रहे कबड्डी के खिलाडि़यों के अच्छे दिनों की शुरुआत होगी.

Tags: