सरिता विशेष

राष्ट्रमंडल खेल-2022 की मेजबानी अगर बर्मिंघम को मिलती है तो इन खेलों में पुरुष क्रिकेट की वापसी हो सकती है. डरबन ने वित्तीय और राजनीतिक विवाद के चलते मेजबानी से अपना नाम वापस ले लिया था. इसके बाद खेलों की मेजबानी के लिए ब्रिटेन सरकार ने बर्मिंघम को नीलामी के लिए आमंत्रित किया है.

डरबन में होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में महिला क्रिकेट को शामिल किया गया था. वारविकशायर के मुख्य र्कायकारी अधिकारी और बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों की नीलामी कंपनी के सदस्य नील स्नोबाल ने इस बात की पुष्टि की है कि उनका मकसद आईसीसी और ईसीबी के साथ मिलकर क्रिकेट को शामिल करने का है. क्रिकेट का प्रारूप टी-20 होगा.

मैच एजबेस्टन और वर्सेस्टशायर के न्यू रोड होम में होंगे. मेजबानी की रेस में सिर्फ बर्मिंघम ही शामिल नहीं है. इसमें कनाडा, मलेशिया और ऑस्ट्रेलिया के शहर भी हैं. लीवरपूल ने भी मेजबानी में अपनी रुचि जाहिर की है.

नीलामी के लिए ब्रिटेन सरकार के पास आवेदन भेजने की अंतिम तारीख 28 अप्रैल है. इस पर अंतिम फैसला जुलाई में लिया जाएगा. ईसीबी ने पहले भी इन खेलों में क्रिकेट को शामिल करने के लिए अपना समर्थन दिया है लेकिन, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से समर्थन मिलना तय नहीं है.

इंग्लैंड 2022 में भारत की मेजबानी करेगा जिससे उसके इन खेलों में भाग लेने की संभावना ज्यादा है. लेकिन व्यक्तिगत तौर पर राष्ट्रमंडल सदस्य इसके लिए हां कहें यह दूर की कौड़ी लगता है.

मलेशिया में 1998 में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में इंग्लैंड ने अपनी टीम नहीं भेजी थी. यह पहला मौका था जब राष्ट्रमंडल खेलों में क्रिकेट को शामिल किया गया था. इसके बाद ऐसा दोबारा नहीं हो सका. इन खेलों में दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर फाइनल जीता था.

राष्ट्रमंडल खेलों में क्रिकेट आवश्यक रूप से शामिल किया जाना वाले खेलों की सूची में नहीं है लेकिन यह उन वैकल्पिक खेलों की सूची में जरूर शामिल है जिन्हें मेजबान देश चुन सकते हैं.