जिस तरह प्रीति जिंटा की आईपीएल टीम किंग्स इलैवन पंजाब की स्थिति हुई वैसे ही उन की खुद की लिखी और अभिनीत पहली फिल्म ‘इश्क इन पेरिस’ की हालत हुई है. बड़ेबड़े पीवीआर जैसे सिनेमाघरों में रिलीज के पहले दिन ही इस फिल्म को दर्शकों का ठंडा रिस्पौंस मिला.
यह फिल्म इसलिए दर्शकों पर अपना असर छोड़ पाने में असफल रही क्योंकि प्रीति जिंटा का यह इश्क काफी ठंडा है, कहानी भी साधारण है. और फिर फिल्म की नायिका खुद प्रीति जिंटा के चेहरे पर मासूमियत नजर नहीं आती. वैसे प्रीति जिंटा की अभी शादी नहीं हुई है, फिल्म की कहानी में नायिका की भी शादी करने में दिलचस्पी नहीं है.
यह फिल्म 2-3 साल से रिलीज होने का इंतजार कर रही थी. प्रीति जिंटा ने इस फिल्म से काफी उम्मीदें बांध रखी थीं लेकिन फिल्म उन की उम्मीदों पर खरी नहीं उतर सकी है.

फिल्म की कहानी ऐसे 2 लोगों की है जो शादी में विश्वास नहीं करते. कहानी पेरिस से शुरू होती है. इश्क (प्रीति जिंटा) और आकाश (रेहान मलिक) रोम से पेरिस जा रही एक ट्रेन में मिलते हैं. दोनों भारतीय हैं. दोनों में दोस्ती हो जाती है. आकाश इश्क को पेरिस में अपने साथ एक रात बिताने को राजी कर लेता है. दोनों एकदूसरे से वादा करते हैं कि दोबारा नहीं मिलेंगे. लेकिन नियति उन्हें फिर से मिला देती है. आकाश को इश्क से प्यार हो जाता है परंतु इश्क शादी को नापसंद करती है. आखिर में इश्क की मां उसे अपने और पति के तलाक के बारे में सचाई बताती है. इश्क को लगता है कि उस के अंदर भी प्यार का अंकुर फूटने लगा है. वह लंदन वापस जा रहे आकाश के पास पहुंच जाती है और अपने प्यार का इजहार करती है.

फिल्म की यह कहानी एकदम ठंडी है. कहानी की गति भी बहुत धीमी है. फिल्म का निर्देशन भी दमदार नहीं है. कहानी में ट्विस्ट भी नहीं है, सीधीसपाट सी है. पूरी कहानी एक किरदार के मुंह से कहलवाई गई है.

हां, निर्देशक ने पेरिस और वहां पर बने एफिल टावर की खूबसूरती को दिखाने में कोई कंजूसी नहीं बरती है. रात के समय हजारों बल्बों की रोशनी में चमकता एफिल टावर बहुत खूबसूरत लगा है.

प्रीति जिंटा के अभिनय में कोई नवीनता नजर नहीं आती, उलटे उस के चेहरे पर प्रौढ़ता झलकने लगी है. रेहान मलिक का काम कुछ अच्छा है. फिल्म में सलमान खान का एक आइटम सौंग भी डाला गया है. प्रीति जिंटा भी सलमान के साथ नाची हैं.

फिल्म का संगीत कुछ अच्छा है. ‘कुडि़ए दी कुरती’ और ‘जाने भी दे’ गीत सुनने में अच्छे लगते हैं.