प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ट्विटर पर सब से ज्यादा लोग भारत में फोलो करते हैं और सब से अधिक 10 में से बाकी 9 एक्टर और खिलाड़ी हैं. यह संयोग ही नहीं है ट्विटर जो खाली बैठे लोगों का खेल है वहां नरेंद्र मोदी एक्टरों और क्रिकेटरों की गिनती में आते हैं. ट्विटर पर फोलो करने वाले आमतौर पर वे लोग हैं जिन्हें सुबह से शाम काम की फिक्र कम और मोबाइल पर बटन दबाने की चिंता ज्यादा होती है. वे सितारों और खिलाड़ियों के साथ जुड़ कर समय बर्बाद कर फालतू में ही खुश होते हैं.

देश का प्रधानमंत्री अपनी लोकप्रियता ट्विटर से नहीं जनता की भावनाओं से सिद्ध करता है. जिस प्रधानमंत्री के फैसलों से जनता खुश होती है वहां खुदबखुद पता चल जाता है. वहां विपक्ष में बैठे लोग भी आदर व सम्मान करते हैं. शाहरूख खान और अक्षय कुमार किसी की जिंदगी पर कोई प्रभाव नहीं छोड़ते, प्रधानमंत्री का हर कदम, हर फैसला, हर वक्त कभी कुछ की तो कभी पूरे देश की जिंदगी बदल देता है.

ट्विटर अगर सफलता का पैमाना होता तो 10 में से बाकी 9 के भी कुछ करने का असर पूरे देश पर पड़ता, पर सच यह है कि विराट कोहली हो या दीपिका पादुकोण, इन के कुछ भी करने से देश का एक पत्ता नहीं हिलता. ये स्क्रीन या स्टेडियम पर कुछ भी कर लें, देश में उन के कहने करने से न सड़कें बनती हैं, न न्याय मिलता है, न विकास होता है. क्या जनता 10 वें को भी ऐसा ही समझती है?

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं