संपादकीय

रंगभेद पर बंटता समाज
By | 24 May 2017
भारत में थोड़े से गोरे रंग के लोगों को नौकरियों, शादियों, नेतागीरी में इतनी ज्यादा प्राथमिकता मिल जाती है कि गहरे रंग के प्रति हमारी सोच बेतुकी होती जाती है.