सरिता विशेष

मोबाइल फोन सेवाप्रदाता कंपनी रिलायंस जियो इन्फोकौम लिमिटेड ने अपने ग्राहकों की संख्या बढ़ाने के लिए पिछले वर्ष इंटरनैट डेटा निशुल्क देने की शुरुआत की और यह सेवा वह इस वर्ष मार्च तक उपभोक्ताओं को देता रहा. इस के कारण उस के ग्राहकों की संख्या करोड़ों में बढ़ी है लेकिन दूरसंचार कंपनियों को इस का भारी खमियाजा उठाना पड़ा है.

पिछले वित्त की आखिरी तिमाही में मोबाइल फोन सेवाप्रदाता कंपनियों को इस के कारण 37 हजार 284करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा. घाटे के कारण बड़ी कंपनियों को अपना अस्तित्व बचाने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है. उस से पहले की तिमाही में यह घाटा 44,754 करोड़ रुपए का था. दिसंबर के बाद जियो की सेवा से ग्राहक कुछ कम संतुष्ट नजर आ रहे थे, इसलिए अन्य कंपनियों की सेवाओं की तरफ कई ग्राहकों ने रुख किया.

टैलीकौम बाजार में जियो के चलते जबरदस्त प्रतिस्पर्धा आई और कंपनियों ने कम दाम पर डाटा सेवा ग्राहक को उपलब्ध कराई है. इस से देश में मोबाइल नैटवर्क का इस्तेमाल करने वाले लोगों की संख्या में खासा इजाफा हुआ है. हर हाथ में स्मार्टफोन आया है जिस से स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियों की खूब कमाई हुई है.