सरिता विशेष

पिछले वित्तवर्ष के आखिर में भारत तेज विकास दर के साथ निवेश तथा कारोबार के लिए उपयुक्त माहौल बनाए रखने के कारण कारोबारी उम्मीद के नजरिए में दुनिया में पहले स्थान पर रहा. कारोबार के संबंध में अध्ययन रिपोर्ट पेश करने वाली कंपनी ग्रांट थार्नटन ने हाल में जारी अपनी अंतर्राष्ट्रीय कारोबारी रिपोर्ट में यह जानकारी दी है.

रिपोर्ट के अनुसार, इस अध्ययन में 36 शीर्ष देशों की ढाई हजार कंपनियों के प्रतिनिधियों से कारोबार के संबंध में पूछे गए सवालों के जवाब के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला गया है. यह सर्वेक्षण इन 36 देशों की प्रमुख कंपनियों के प्रतिनिधियों से मिली सूचना पर आधारित है. इस में जीडीपी यानी सकल घरेलू उत्पाद की विकास दर तथा कंपनियों के हित में सरकार की हाल में की गई घोषणाओं को अहमियत दी गई है.

सब से बड़ी बात यह है कि सर्वेक्षण में अपने कारोबार के प्रति भारतीय कंपनियों के प्रतिनिधि ही सर्वाधिक आश्वस्त नजर आए हैं. इस के अलावा राजस्व अर्जन तथा रोजगार उपलब्ध कराने के मामले में भी भारतीय कंपनियां ही सब से आगे रही हैं.

यह सर्वेक्षण देश में कारोबार करने वाली कंपनियों के लिए अत्यधिक उत्साहजनक है. इस से निवेश बढ़ेगा तथा कारोबार को व्यापक फलक मिलेगा. सर्वेक्षण रिपोर्ट से उत्साहित कारोबारियों का मानना है कि कारोबार के लिए जो अनुकूल माहौल उपलब्ध कराया जा रहा है उसे देखते हुए अगली तिमाही में भी भारत बाजी मार सकता है. उन का कहना है कि यह उत्साहित करने वाला सर्वेक्षण है जिस में दुनिया के 3 दर्जन प्रमुख देशों में कारोबार के स्तर पर भारत शीर्ष स्थान पर है.