सरिता विशेष

खूबसूरत दिखना हर महिला की ख्वाहिश होती है. मगर इस के लिए रोज मेकअप में काफी सारा वक्त लगा पाना हर किसी के लिए संभव नहीं.

परमानेंट मेकअप सौंदर्य संबंधी सभी समस्याओं का स्थायी निदान है. यह सिर्फ मेकअप तकनीक ही नहीं, एक प्रकार से उपचार भी है. इसे आप टैटू आर्ट के समान मान सकते हैं. इस प्रक्रिया में नीडल के जरिए स्किन की अपर लेयर में पिग्मेंट पहुंचाया जाता है.

परमानेंट मेकअप में कई तरह के विकल्प मौजूद हैं. इस की जानकारी विस्तार से दी है, परमानेंट मेकअप एक्सपर्ट और आल्प्स ब्यूटी क्लिनिक्स की एक्जक्यूटिव डायरेक्टर, गुंजन गौर,

परमानेंट मेकअप के प्रकार

परमानेंट आईब्रोज

आईब्रोज का कलर लाइट हो या आईब्रो पतली हो या फिर बचपन की किसी चोट के चलते आईब्रो में कट हो जाने पर हमें डेलीडेली अपनी आईब्रोज की शेप को इंप्रूव करने के लिए आईब्रो पेंसिल का इस्तेमाल करना पड़ता है. लेकिन परमानेंट आईब्रोज बनवा कर आप इस समस्या से छुटकारा पा सकती हैं. इस के जरिए मशीन द्वारा एक बार आईब्रो को खूबसूरत शेप व मनचाहे रंग से बना दिया जाता है जो पसीने या नहाने से खराब नहीं होती है.

परमानेंट लाइनर व कोल

लेंस व चश्मे का इस्तेमाल करने वालों के लिए रोजरोज लाइनर व काजल लगाना दिक्कत का विषय हो जाता है. परमानेंट आईलाइनर और काजल से आप की ये समस्या सुलझ सकती है.

परमानेंट लिपलाइनर व लिपकलर

लिप्स को शेप देने के लिए परमानेंट लिपलाइनर लगवाया जा सकता है. ये लिपलाइनर आप के मनचाहे शेप के अनुसार लगाया जाता है और लगभग 4 से 10 वर्षों तक बरकार रहता है. पेल लिप्स को कलरफुल करने के लिए परमानेंट लिपस्टिक एक वरदान है. इस से होंठ तकरीबन 3-4 महीने तक गुलाबी व सुंदर बने रहेंगे.

परमानेंट ब्यूटी स्पोट

हुस्न में सेक्स अपील जोड़ने के लिए परमानेंट ब्यूटी स्पौट बनवा सकती हैं.

परमानेंट कलरिंग

यदि आप सफेद दाग या ल्यूकोडर्मा पैचेस की शिकार हैं तो परमानेंट कलरिंग की तकनीक आप के लिए किसी रामबाण से कम नहीं. इस के अंतर्गत स्किन से मैच करते कलर को त्वचा की डर्मिस लेयर तक पहुंचाया जाता है जिस से दाग छुप जाते हैं. परमानेंट कलरिंग का असर 2 साल से ले कर 15 साल तक बना रह सकता है.

कितने समय तक ठहरता है परमानेंट मेकअप

आमतौर पर सभी परमानेंट मेकअप लगभग 15 सालों तक टिके रहते हैं लेकिन लिप कलर केवल 3 से 4 महीने तक ही रहता है और परमानेंट कलरिंग का असर केस टू केस निर्भर करता है.

ट्रेंड में

मेकअप एक्सपर्ट की हमेशा कोशिश होती है कि वो महिला को उस से भी अच्छे से जान सके और उस की कमियों को पूरा कर सके. वैसे इन दिनों तो परमानेंट आईब्रो बनवाने को ले कर महिलाओं में काफी क्रेज देखा जा रहा है, ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्योंकि आईब्रो की सही शेप हमारे चेहरे को बेहतर फ्रेम प्रदान करती हैं और आप के लुक में खूबसूरत चेंज लाती है.

किन के लिए जरूरी

हर पल सुंदर दिखने की इच्छा रखने वाले तो परमानेंट मेकअप करवाना पसंद करते ही हैं. कैंसर के मरीज जो कीमोथेरैपी के दौरान अपनी आईब्रोज के बाल खो चुके होते हैं या फिर अक्सर तलाकशुदा लोग भी खुद को गम से उबारने के लिए अपने अंदर चेंज लाना चाहते हैं और इस कारण वो भी परमानेंट मेकअप को अपने लिए चुनते हैं. परमानेंट मेकअप की रेगुलर युवतियों की रुचि इस में निरंतर बनी रहती है.

जर्मन कलर्स और नीडल्स के द्वारा परमानेंट मेकअप किया जाता है. परमानेंट मेकअप का कोई साईड इफैक्ट नहीं है, बस इस प्रौसैस को करने के बाद हल्की सी रेडनेस नजर आती है जो 15 से 20 मिनट में चली जाती है. परमानेंट आईब्रो और परमानेंट आईलैश जौइनर जदातर वही करवाते हैं जिन की आईब्रो का कलर लाइट है व शेप किसी कारण खराब है. इस के अंतर्गत क्लाइंट की लैश लाइन के ऊपर स्किन और हेयर टोन से मैच करती एक ब्लैक लाइन बना दी जाती है जिस से लैशिज घनी व डार्क नजर आती है.

करियर वूमैन हो या हाउसवाइफ, हर स्त्री काम की अधिकता और समय की कमी से जूझ रही है. ऐेस में मेकअप करने के लिए उस के पास वक्त नहीं होता, परमानेंट मेकअप इस समस्या का बेहतरीन सौल्यूशन है.

VIDEO : ब्लू वेव्स नेल आर्ट

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.