ब्रिटेन की सब से सैक्सी और हौट बिकिनी मौडल केट अपटन ने खुलासा किया है कि कभी उन्हें अन्य युवतियों की उन्नत और आकर्षक ब्रैस्ट देख कर जलन महसूस होती थी. केट ने एक इंटरव्यू में बताया कि किशोरावस्था में उन की ब्रैस्ट लगभग सपाट थी और इस के लिए उन की फ्रैंड्स उन का मजाक उड़ाया करती थी. केट का मानना है कि टीनऐज में मिले इस सबक ने उन्हें सुपरमौडल बनने का रास्ता दिखा दिया. केट ने ब्रैस्ट इंप्लांट करवाया और आज केट ब्रिटेन की हौट मौडल हैं.

सिर्फ केट ही नहीं बल्कि बहुत सी युवतियां अपनी ब्रैस्ट साइज को ले कर बहुत टैंशन में रहती हैं. खासकर वे युवतियां जिन की ब्रैस्ट ज्यादा छोटी या ज्यादा बड़ी है. कुछ युवतियों की परफैक्ट ब्रैस्ट न होने के कारण उन्हें चिढ़ाया भी जाता है जिस वजह से अन्य युवतियों की परफैक्ट ब्रैस्ट देख कर वे जलन महसूस करने लगती हैं.

वैसे तो किसी दूसरी को देख कर जलना अच्छी बात नहीं है, लेकिन कई बार यह जलन अपने लिए ही अच्छी साबित होती है. किसी दूसरी से जलन से मन में कंपीटिशन की भावना आती है कि अगर उस की ब्रैस्ट अच्छी है तो मेरी क्यों नहीं हो सकती और अपनी इसी सोच के चलते युवतियां अच्छी ब्रैस्ट पाने के लिए काफी मेहनत करती हैं.

आज लगभग हर युवती अपनी ब्रैस्ट के आकार को ले कर जागरूक है. बहुत कम ऐसी युवतियां हैं जो अपनी ब्रैस्ट के आकार से संतुष्ट हैं. कुछ युवतियों ने अपनी ब्रैस्ट कम करने की कोशिश में कड़ी मेहनत की है तो दूसरी तरफ कुछ युवतियां इंटरनैट पर अपनी ब्रैस्ट कैसे बढ़ाएं? जैसे सवालों का हल जानने को उत्सुक रहती हैं.

अपनी ब्रैस्ट परफैक्ट बनाने के पीछे एक वजह यह भी है कि युवक अकसर युवतियों की ब्रैस्ट देख कर ही उन की तरफ आकर्षित होते हैं और युवतियों को लगता है कि अगर उन की ब्रैस्ट उन्नत नहीं है तो युवक उन की तरफ नहीं देखेंगे. लेकिन सवाल यह है कि युवतियों को ऐसा क्यों लगता है कि उन की ब्रैस्ट को देख कर युवक आकर्षित होते हैं?

ब्रैस्ट की तरफ क्यों अट्रैक्ट होते हैं युवक

युवक युवतियों की ब्रैस्ट की तरफ आकर्षित क्यों होते हैं, इस का जवाब अकसर युवतियां खोजती रहती हैं, लेकिन इस पर हुए अध्ययन में कई कारण सामने आए हैं. आमतौर पर जब युवक युवतियों से बात करना शुरू करते हैं तो उन की निगाहें सीधी आंखों से टकराने के बजाय पहले उन की ब्रैस्ट पर जाती हैं. इस के बाद गरदन की ओर देखते हैं और फिर आंखों से आंखें मिलती हैं.

खास बात यह है कि ऐसी बौडी लैंग्वेज को युवतियां तुरंत समझ जाती हैं और उन्हें उस व्यक्ति की सोच के बारे में भी अंदाजा हो जाता है. लेकिन ऐसे में हर बार पुरुष की मानसिकता गलत नहीं होती. अध्ययन के मुताबिक युवक बातचीत की शुरुआत करते वक्त सब से पहले ब्रैस्ट की ओर देखते हैं. असल में युवकों को लगता है कि युवती की अट्रैक्टिव बै्रस्ट उस में सैक्स की फीलिंग बढ़ाती है.

अध्ययन के मुताबिक अगर ब्रैस्ट ज्यादा छोटी या बड़ी है तो युवक ज्यादा देर तक ब्रैस्ट की तरफ नहीं देखते. उन की नजर सैकंड से भी कम समय में ब्रैस्ट से हट जाती हैं. बात करते वक्त युवक की नजर तभी ब्रैस्ट की तरफ ज्यादा बार जाती है जब ब्रैस्ट सैक्सी और सुडौल हो. इसलिए युवतियां को यह बात बुरी लगती है कि वे अट्रैक्टिव नहीं हैं और कोई युवक उन के सामने उन की दोस्त को देखे वह भी सिर्फ अच्छी ब्रैस्ट की वजह से, तो ऐसे में जलन होना स्वाभाविक है.

यदि कपड़ों के बाहर से हलकी झलक दिख रही है तब भी बात करते वक्त युवक की नजर युवती की ब्रैस्ट पर एक से अधिक बार जाती है. ब्रैस्ट के आकर्षक होने पर युवक ठीक से संचार स्थापित नहीं कर पाते. उन का मन सिर्फ और सिर्फ ब्रैस्ट की ओर देखने को करता है.

अध्ययन में पाया गया कि यदि युवती दूर खड़ी है या फिर युवक की ओर नहीं देख रही है, तब भी 95त्न से ज्यादा युवकों की पहली नजर उस की ब्रैस्ट पर ही पड़ती है. पास आने पर भले ही नजर हट जाए. अध्ययन के मुताबिक 69त्न युवतियां अपनी ब्रैस्ट को उभरा हुआ बनाने की जुगत में लगी रहती हैं. वह भी सिर्फ इसलिए कि युवक उन की तरफ आकर्षित हो सकें.

गाइनोकोलोजिस्ट अंजली वैश्य का इस बारे में कहना है कि सच तो यह है कि वजह चाहे कुछ भी हो, लेकिन इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि ब्रैस्ट युवती का सब से आकर्षक अंग है जो न सिर्फ सुंदरता में चारचांद लगाता है, बल्कि युवती को सैक्सी लुक भी प्रदान करती है. लेकिन युवतियों में अकसर अपनी ब्रैस्ट के साइज को ले कर शिकायत रहती है और उस वजह से वे परेशान रहती हैं.

अगर आप भी अपनी ब्रैस्ट के साइज से खुश नहीं हैं तो ब्रैस्ट की सर्जरी करा सकती हैं, लेकिन अगर आप ऐसा नहीं चाहतीं तो अपनी ब्रैस्ट को इन नैचुरल तरीकों से भी बड़ा या छोटा कर सकती हैं वह भी बिना किसी सर्जरी के. आइए, जानें कैसे :

ब्रैस्ट बढ़ाने और सुडौल करने के लिए

ब्रैस्ट ऐक्सरसाइज करें

अगर ब्रैस्ट छोटी है और उस का आकार बढ़ाना है तो ब्रैस्ट मांसपेशियों को बढ़ाने के लिए पुशअप, डंबल से ब्रैस्ट प्रैस, वाल प्रैस, स्विंगिंग आर्म्स के साथसाथ घर पर गोमुखासन, वृक्षासन आदि ऐक्सरसाइज कर सकते हैं, क्योंकि इस से ब्रैस्ट बढ़ती है और सुडौल भी बनती है.

इस के अलावा ब्रैस्ट बढ़ाने के लिए आप दोनों हाथों में 5 किलो वजन लें और एक कुरसी पर बैठ जाएं, इसे लिफ्ट करें. ध्यान रखें कि हाथ आप के कंधों के बराबर हों. 5 से 10 सैकंड तक लगातार ऐसा करें. फिर शुरू की स्थिति में आएं और वापस ऐसा करें. हर दिन इस व्यायाम को करने की कोशिश करें.

सही ब्रा का चुनाव करें

अपनी ब्रैस्ट के अनुसार ही ब्रा का चुनाव करना चाहिए. गलत साइज की ब्रा ब्रैस्ट के लिए बहुत हानिकारक है. अगर ब्रैस्ट छोटी है तो उस के लिए पैडेड ब्रा पहनी जा सकती है और यदि ब्रैस्ट का साइज बड़ा है तो प्लेन ब्रा पहनें.

ब्रैस्ट की मसाज करें

ब्रैस्ट बढ़ाने के लिए आप घर पर ही मसाज कर के उस का आकार बढ़ा सकती हैं. ब्रैस्ट बढ़ाने वाले तेल की सहायता से भी मसाज करें या फिर सूखे हाथों से मसाज की जा सकती है. जैसे कि हाथ की हथेलियों को 6-10 मिनट तक आपस में रगड़ कर पहले हथेलियों में गरमी पैदा कर लें, उस के बाद ब्रैस्ट को ऊपर उठाते हुए चारों तरफ से मसाज करें. ऐसा कई महीने तक करें. इस से ब्रैस्ट के रक्त प्रवाह में और प्रोलिक्टन के उत्पादन में वृद्धि होगी, जिस के कारण ब्रैस्ट विस्तार हारमोन को प्रोत्साहित करने में मदद मिलेगी और ब्रैस्ट स्वाभाविक रूप से बढ़ेगी.

खानपान का खयाल रखें

ब्रैस्ट छोटी होने का एक कारण शरीर में एस्ट्रोजन की कमी होना और टैस्टोस्टेरौन का अधिक मात्रा में होना भी है. ऐसे में आप को हारमोन संतुलित करना जरूरी है. आप अपने भोजन में चिकन, मछली, सोया से बने पदार्थ, सूप, सब्जियां, फलियां, अंडे, नट्स, तिल और सन के बीज भी शामिल कर सकती हैं. एस्ट्रोजन बै्रस्ट विकास में मदद करता है. प्रोटीनयुक्त फल खाने से मसल्स बिल्डअप होते हैं और फेमनिन कर्व साइज में आ कर सुगठित होते हैं.

ब्रैस्ट क्रीम

मार्केट में आज कई ऐसी क्रीम मौजूद हैं जो ब्रैस्ट के विकास का भरोसा दिलाती हैं. आप को ऐसी क्रीम चुननी चाहिए जो आप की त्वचा के लिए सही हो. यह क्रीम आप की ब्रैस्ट को सुडौल और आकर्षक बनाने में काफी उपयोगी सिद्ध होगी.

ब्रैस्ट पंप

ब्रैस्ट का आकार बढ़ाने के लिए ब्रैस्ट पंप को एक आसान तरीका माना जाता है. इस से धीरेधीरे त्वचा और वैक्यूम दबाव के कारण मुलायम ऊतकों में खिंचाव आता है और आप की ब्रैस्ट में ज्यादा उभार आता है.

ब्रैस्ट कम करने के लिए कार्डियो ऐरोबिक्स करें

आप को ब्रैस्ट कम करने के लिए शरीर से अतिरिक्त वसा कम करनी होगी. सही और सुडौल ब्रैस्ट के लिए एरोबिक्स करें. भारी वजन न उठाएं. यह आप की मांसपेशियों के भारीपन को कम नहीं करता बल्कि मांसपेशियों को टोन करता है. यदि आप जिम नहीं जाना चाहतीं तो घर पर ही कार्डियो ऐक्सरसाइज कर सकती हैं. जौगिंग ब्रैस्ट के आकार को कम करने के लिए अच्छी ऐक्सरसाइज है. तेज चलने से ब्रैस्ट से अतिरिक्त वसा कम होगी. साथ ही 25 मिनट तक ऐरोबिक्स करना भी ब्रैस्ट को कम करने में मददगार साबित होगा.

ऐक्सरसाइज

आप को दौड़ने, साइकिलिंग करने, सीढि़यां चढ़ने और स्विमिंग करने जैसी कैलोरी बर्न करने वाली ऐक्सरसाइज करनी चाहिए.

डांस

डांस स्टैप्स के सही चुनाव से आप ब्रैस्ट को कम कर सकती हैं. उन डांस स्टैप्स पर ध्यान दें जो ब्रैस्ट के हिस्सों में मूवमैंट पैदा करते हों.

अदरक

अदरक फैट को बर्न करने में मदद करता है. साथ ही इस में ज्यादा समय भी नहीं लगता. एक कप गरम पानी में पिसा हुआ अदरक और एक चम्मच शहद मिला कर पीएं. यह छाती के फैट को बर्न करने का सब से कारगर उपाय है.

ग्रीन टी

हर दिन कम से कम 2 बार ग्रीन टी पीने से जहां ब्रैस्ट वजन कम होता है,

वहीं कम करने में भी ग्रीन टी काफी प्रभावी है.

अलसी के बीज

अलसी के बीज में ओमेगा 3 फैटी एसिड पाया जाता है. यह शरीर में एस्ट्रोजन के स्तर को कम करने में मदद करता है. अगर आप एक गिलास अलसी के भिगोए हुए बीजों का सेवन करेंगी तो कुछ ही दिन में आप को मनचाहा परिणाम मिल जाएगा.

अंडे की सफेदी

सुडौल ब्रैस्ट के लिए अंडे की सफेदी सब से अच्छा प्राकृतिक उपाय है. एक अंडे की सफेदी में एक चम्मच प्याज का रस मिलाने से ब्रैस्ट में कठोरता आएगी और बै्रस्ट कम दिखने लगेगी.

नीम

नीम के मुट्ठी भर पत्ते उबालें, इन में थोड़ी हलदी और एक चम्मच शहद मिला लें. फिर इस में पानी मिला कर इस का सेवन करने से 2 हफ्ते में ही ब्रैस्ट कम होने लगेगी.

ब्रैस्ट को बड़ा दिखाने वाली ब्रा

ब्रैस्ट को बड़ा दिखाने के लिए मार्केट में पैडेड ब्रा की बहुत सी वैराइटी मिलती हैं जिन्हें पहन आप भी ब्रैस्ट को बड़ा दिखा सकती हैं.

नैकलाइंस को दिखाएं

ब्रैस्ट बड़ी दिखाने के लिए नैकलाइंस का काफी अहम रोल है. ऐसे में आप बड़े गले के टौप पहनें.