अच्छी खुशबू का हमारे जीवन में बहुत महत्व है. सुगंध आप को अच्छा रिफ्रेश फिल करवाती है और आपके मूड को भी बदल देती हैं. ‘एमबी प्योर’ के ‘स्मेली टू स्माइली’ इवेंट पर ब्रांड एम्बेसेडर बोमन इरानी ने कहा, ‘घर में खाना बनाने, गार्बेज, गीले कपड़ों आदि की वजह से ‘स्मेल्स’ होते हैं. आपका घर कितना भी आलीशान हो, अगर उसकी महक अच्छी न हो, तो घर में आने वाले ‘गेस्ट’ की धारणा आपके प्रति नकारात्मक हो जाती है. उन्हें लगता है कि आप घर का ध्यान नहीं रखते. यह जरुरी है कि आपके घर से खुशबू आती रहे, खासकर बंद कमरों, रसोईघर और वाशरूम में हमेशा अच्छी महक आवश्यक है.’

उन्होंने आगे बताया, ‘मुझे खराब स्मेल पसंद नहीं. मैं उससे परेशान हो जाता हूं. मैं यह मानता हूं कि साफ सफाई ही स्वस्थ शरीर का राज है. मैं एक खुशमिजाज इंसान हूं अगर उसमें ‘ह्यूमर’ नहीं तो मैं खुश नहीं.’ निर्माता, निर्देशक फरहा खान कहती है, ‘मेरा घर हमेशा साफ और सुगन्धित होना चाहिए, क्योंकि इससे मेरे बच्चे प्रभावित होते हैं.

इस अवसर पर एक्सपर्ट मैक्सिम दालेड बताते है कि हर दिन हम 23040 बार सांस लेते है और यह 438 घन फीट एरिया में घूमता है ऐसा करने में 5 सेकेण्ड लगते हैं. 2 सेकेण्ड सांस लेने में और 3 सेकेण्ड सांस छोड़ने में. उस समय अगर कोई गंध आसपास होती है तो उसके अणु हमारे इस प्रक्रिया में शामिल हो जाते हैं. जिससे हमें अच्छी और खराब महक का एहसास होता है. इसका हमारे मस्तिष्क पर सीधा पड़ता है. यही वजह है कि हमारे मूड में परिवर्तन दिखाई पड़ता है.