सरिता विशेष

अस्वस्थता के चलते विधानसभा चुनाव प्रचार नहीं कर पाईं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की इच्छा अब बिस्तर से उठने की हो भी नहीं रही होगी. उन की असल चिंता जाहिर है देश कम, बेटा ज्यादा होगी, जिसे सोशल मीडिया के खिलाडि़यों ने यों व्यक्त किया कि वह न तो बहू ला रहा है और न ही बहुमत.

उत्तर प्रदेश में जो हुआ, उस से राहुल गांधी की भद्द पिटी है जिस से उबरने के लिए दिग्विजय सिंह ने उन्हें कुछ बुनियादी फैसले लेने का मशवरा दिया है. पकी उम्र में दूसरा विवाह कर चुके दिग्विजय सिंह अब साफसाफ तो कह नहीं सकते कि राहुल गांधी को भी अब शादी कर घरगृहस्थी बसा लेनी चाहिए, शायद उस में सफल हो जाएं.