सरिता विशेष

मैं 30 वर्षीय अविवाहित, प्राइवेट कंपनी में कार्यरत हूं. मुझे अपनी कंपनी में काम करने वाली एक लड़की से प्यार हो गया है. वह भी मुझे चाहती है. शीघ्र ही हम शादी करने वाले हैं. समस्या यह है कि वह उच्चवर्गीय परिवार की इकलौती लड़की है, जबकि मैं मध्यवर्गीय संयुक्त परिवार से हूं. क्या वह हमारे घरपरिवार में ऐडजस्ट कर पाएगी?

आप बेकार ही परेशान हो रहे हैं. अगर आप एकदूसरे को चाहते हैं तो उस के ऐडजस्ट न करने का सवाल ही नहीं उठता. उसे आप के घर का माहौल अवश्य पसंद आएगा. आप उसे अपने परिवार के रीतिरिवाजों, तौरतरीकों के बारे में बताएं. घर में साथ रहने के फायदे गिनवाएं. जहां तक आप के और उस के आर्थिक स्तर का सवाल है, उस ने आप के बारे में सबकुछ जानते हुए ही आप से शादी करने का निर्णय लिया होगा. इसलिए बेफिक्र हो कर अपनी शादी की योजनाएं बनाएं और भविष्य में जब कोई मुश्किल आए, एकदूसरे के प्यार के सहारे उस का हल निकालें.

 

मैं 35 वर्षीया विवाहिता हूं. कुछ दिनों से पति का व्यवहार बदलाबदला नजर आ रहा है. आजकल वे अपनी एक महिला कुलीग के बारे में बहुत बात करते हैं. कभी उस के बने खाने की तारीफ करते हैं तो कभी उस की ड्रैसिंग सैंस की तारीफ करते हैं.

आप ने कहा कि आप को पति की कुलीग से ईर्ष्या होने लगी है. इस का अर्थ है कि आप के पति अपने उद्देश्य में सफल हो गए हैं. दरअसल, आप के पति का बदला रूप और कुछ नहीं, यह जानना है कि आप उन की कितनी परवा करती हैं. क्या किसी और की तारीफ करने से आप को फर्क पड़ रहा है? ईर्ष्या हो रही है? आप ध्यान से अपने आसपास देखिए, आप पाएंगी अब आप ने पति की ओर ध्यान देना कम कर दिया है और पति चाहते हैं कि आप उन की तरफ ध्यान दें, उन्हें आकर्षित करने के लिए अच्छे कपड़े पहनें, अच्छी तरह तैयार हों, अच्छा खाना बना कर उन का दिल जीतें.

 

मैं 27 वर्षीया विवाहिता हूं. मेरी 7 वर्ष की एक बेटी है. समस्या यह है कि बेटी स्कूल जाने में आनाकानी करने लगी है. स्कूल जाने के समय से कुछ पहले वह पेटदर्द, सिरदर्द की शिकायत करती है. जबरदस्ती भेजने की कोशिश करती हूं तो रोनाधोना शुरू कर देती है. पढ़ाई में वह पिछड़ती जा रही है. समझ नहीं आ रहा, वह ऐसा क्यों कर रही है. इस से पहले तक वह आराम से खुश हो कर स्कूल जाती थी. आप ही बताइए मैं क्या करूं?

आप ने बताया कि अब से पहले आप की बेटी खुश हो कर स्कूल जाती थी, कुछ दिनों से स्कूल जाने में आनाकानी कर रही है. इस के लिए सब से पहले आप बच्चे से अकेले में बैठ कर आराम से, प्यार से पूछें कि उस के साथ क्या समस्या है. क्या स्कूल में कोई बच्चा उसे परेशान करता है या उसे अपनी किसी टीचर से कोई परेशानी है. यह जानने के बाद स्कूल में टीचर, काउंसलर से मिलें और अपनी बेटी की समस्या उन के साथ बांटें. बच्चा स्कूल जाने से आनाकानी कर रहा है, इस का मतलब कहीं न कहीं कुछ तो बात है. यह जानने का प्रयास करें. आप स्वयं भी बेटी की पढ़ाई पर ध्यान दें. पढ़ाई में उस की रुचि पैदा करें, उस का काम पूरा करवाएं क्योंकि कई बार बच्चा काम पूरा न होने के डर से भी स्कूल जाने से मना करता है.

 

मैं 35 वर्षीया विवाहिता हूं. विवाह हुए 10 वर्ष बीत चुके हैं. हम दोनों कामकाजी हैं. समस्या यह है कि मेरी सैक्स में रुचि कम हो गई है. मेरे इस?व्यवहार से पति नाखुश रहते हैं. मैं जानती हूं कि इस से हमारे आपसी रिश्तों में कड़वाहट आ रही है पर घर व औफिस की भागदौड़ से उपजी थकान के बाद सैक्स की तरफ ध्यान नहीं जाता. मैं क्या करूं?

आप की समस्या आजकल के अधिकांश वैवाहिक जोड़ों की है. काम व पैसे कमाने की व्यस्तता में वे सैक्स जैसी महत्त्वपूर्ण क्रिया को पूरी तरह इग्नोर करने लगे हैं. वे शायद यह नहीं जानते कि वैवाहिक जीवन में सैक्स का कितना महत्त्व है. सैक्स न सिर्फ आपसी रिश्तों को मजबूत बनाता है बल्कि स्वास्थ्य की दृष्टि से भी लाभदायक होता है. आप के केस में आप अपनी जीवनशैली में थोड़ा बदलाव लाएं. शारीरिक व मानसिक थकान को दूर करने के लिए अच्छा म्यूजिक सुनें, अच्छी किताबें पढ़ें. एकदूसरे के साथ जितना भी समय हो सके, बिताएं. इस से आप दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ेंगी और धीरेधीरे आप की सैक्स में रुचि भी पनपेगी.

 

मैं अपनी 16 वर्षीय बेटी से बहुत परेशान हूं. वह जब देखो मोबाइल, टीवी या इंटरनैट में व्यस्त रहती है. कुछ कहो या मना करो तो बुरा मान जाती है. वह घर से बाहर अपने दोस्तों, रिश्तेदारों, पड़ोसियों से अच्छी तरह पेश आती है लेकिन हमारे साथ उस का व्यवहार बहुत रूखा है. मैं समझ नहीं पा रही हूं, गलती कहां कर रही हूं. आप बताएं, मुझे क्या करना चाहिए?

सब से पहले तो यह जान लें कि आप की बेटी एक बदलाव के दौर से गुजर रही है. ऐसे में अकेले रहना, नईनई चीजों के बारे में जानना, पेरैंट्स से ज्यादा दोस्तों से हर बात शेयर करना आम बात है. आप चाहती हैं कि आप की बेटी मोबाइल, टीवी, इंटरनैट पर कम समय व्यतीत करे तो इस के लिए आप ज्यादा रोकटोक करने के बजाय, उस का इन चीजों के प्रयोग के लिए समय निर्धारित कर दें. उस के साथ नजदीकी बढ़ाने के लिए उस से एक दोस्त की तरह बात करें, उस के दोस्तों के साथ भी दोस्ताना व्यवहार रखें. उस के साथ अपने टीनएज अनुभव शेयर करें. आप के प्यार व अपनेपन से वह आप के नजदीक आएगी और आप के प्रति उस का चिड़चिड़ापन व रूखा व्यवहार भी दूर होगा.