मैं रिटायर्ड अधिकारी हूं. 12 वर्ष पूर्व मैं ने अपनी बेटी का विवाह एक मध्यवर्गीय परिवार में किया था. विवाह के 2 वर्ष बाद ही पता चला कि ससुराल वाले लालची प्रवृत्ति के हैं. वे मुझ से पैसे मांगने के लिए बेटी पर दबाव डालते हैं, उसे प्रताडि़त करते हैं. बेटी के मना करने पर एक बार तो वे उसे मेरे घर ही छोड़ गए. बेटी उन के खिलाफ कोई सामाजिक या कानूनी कार्यवाही नहीं करना चाहती. वह मुझे भी उन से किसी भी तरह की बात करने से मना करती है. वह कहती है, ‘‘मेरा घर टूट जाएगा. मैं अपने 5 व 10 वर्ष के बच्चों को ले कर अकेले समाज में नहीं रह पाऊंगी.’’ इसी कारण मैं भी मजबूर हूं और उन के खिलाफ कोई कदम नहीं उठा पा रहा. अभी बेटी ससुराल में ही है. बेटी व दामाद दोनों उच्च शिक्षित हैं व नौकरी करते हैं. बेटी पर उन की प्रताड़ना अभी भी जारी है. इन सब की गहराई में हमें बेटी के सासससुर ही दोषी नजर आते हैं जो दामाद को गलत व्यवहार के लिए उकसाते रहते हैं. कृपया सुझाव दें कि मैं क्या करूं जिस से बेटी का घर भी न टूटे व दामाद को अपने किए पर पछतावा भी हो.

आप की बेटी उच्च शिक्षित है, नौकरीपेशा है फिर भी न जाने क्यों उन की प्रताड़ना सह रही है. साथ ही, वह यह भी नहीं चाहती कि आप इस मामले में कोई कदम उठाएं. फिर भला समस्या का समाधान कैसे होगा. फिर भी सब से पहले आप अपनी बेटी का आत्मविश्वास बढ़ाएं व उसे समझाएं कि बात करने से बात बनेगी. आप कह रहे हैं कि बेटी के सासससुर आप के दामाद को भड़काते हैं, बेटी को प्रताडि़त करने के लिए प्रेरित करते हैं तो आप दामाद से अकेले में शांतिपूर्वक बात करें. उन्हें बच्चों के प्रति उन की जिम्मेदारी का एहसास कराएं. महिला सुरक्षा कानून महिलाओं की सुरक्षा के लिए ही बने हैं, यह बात बेटी को समझाएं. अगर दामाद समझाने से समझ जाते हैं तो कानून का सहारा लेने की जरूरत ही नहीं पड़ेगी और आप की बेटी का घर भी बसा रहेगा.

*

मेरी पत्नी 54 वर्षीय है और मैं 60 वर्षीय हूं. पत्नी की रजोनिवृत्ति हो चुकी है और उन्हें डिप्रैशन भी रहता है. मेरी समस्या यह है कि मुझे अभी भी सैक्स की चाहत होती है जबकि पत्नी की बिलकुल इच्छा नहीं होती. मैं क्या करूं, बहुत परेशान रहता हूं, डरता हूं कहीं कुंठाग्रस्त न हो जाऊं?

आप अपनी पत्नी की तरफ से शारीरिक अलगाव की समस्या से जूझ रहे हैं, जो आप की जरूरत है. आप की यह चाहत कदापि अवांछित नहीं है. विश्वस्तर पर हुई रिसर्च भी साबित करती है कि सैक्स का उम्र से कोई लेनादेना नहीं है. जहां तक पत्नी की रजोनिवृत्ति व डिप्रैशन की समस्या है, उस का इलाज कराएं. आजकल मैडिकल जगत में ऐसी अनेक दवाएं व थेरैपी उपलब्ध हैं जो रजोनिवृत्ति में भी सैक्स की चाहत को जगा सकती हैं. आप उन का सहारा ले सकते हैं.

*

मैं 16 वर्षीय युवती हूं. मेरी समस्या यह है कि न जाने क्यों मेरा सैक्स करने का बहुत मन करता है. सैक्स से जुड़ी बातों के बारे में सोच कर अच्छा लगता है. मैं क्या करूं?

आप उम्र के उस दौर से गुजर रही हैं जहां ऐसा खयाल आना स्वाभाविक है. ऐसा हार्मोनल बदलाव के कारण होता है और सैक्स से जुड़ी बातें करना व देखना अच्छा लगता है. लेकिन आप की यह उम्र पढ़नेलिखने की है, भविष्य बनाने की है. इस समय आप अपना ध्यान सैक्स की गतिविधियों से हटा कर पढ़ाई में लगाएं, अच्छा साहित्य पढ़ें. हर चीज की सही उम्र व समय होता है, तभी उसे किया जाए तो सही होता है, वरना परेशानियां हो सकती हैं.

*

मैं 60 वर्षीय 3 विवाहित बच्चों की मां हूं. पिछले वर्ष पति का देहांत हो गया था. मेरी समस्या यह है कि बड़ा बेटा घर के कागजात मांग रहा है. मैं ने मना कर दिया तो बेटा और बहू दोनों मुझ से नाराज हैं. छोटा बेटा शहर से बाहर रहता है. मेरी कोई देखभाल नहीं करता, न ही कोई आर्थिक मदद करता है. पैंशन मिलती है, उस से गुजारा करती हूं. बड़ा बेटा 7 साल से मुझ से अलग रह रहा है. बेटी का भी यही रवैया है. मैं बहुत दुखी और परेशान हूं. क्या करूं?

बच्चों को घर के कागजात देने की गलती कभी न कीजिएगा. आप मकान की कानूनी हकदार हैं. बहूबेटे जब आप के नाम मकान है, पैंशन आती है तब आप की कोई मदद नहीं करते तो बाद में वे बिलकुल भी नहीं करेंगे. आप उन की बातों पर ध्यान मत दीजिए. उन की नाराजगी को भी महत्त्व मत दीजिए. आप उन पर निर्भर नहीं हैं, इस बात को ले कर संतुष्ट रहें.

*

मैं 23 वर्षीय अविवाहित युवती हूं. समस्या यह है कि बौयफ्रैंड के साथ मेरे शारीरिक संबंध स्थापित हो गए हैं और अब वह मुझ से बात ही नहीं करना चाहता. उस की एक और गर्लफ्रैंड भी है. मुझे डर है कि कहीं उस की वजह से तो वह मुझ से दूरी नहीं बना रहा. साथ ही कुछ दिनों में मेरी शादी भी होने वाली है. मुझे यह डर भी है कि कहीं मैं प्रैगनैंट तो नहीं हो गई. जिस लड़के से मेरी शादी होने वाली है उसे इस बारे में कहीं पता तो नहीं चल जाएगा? कृपया समाधान बताइए.

आप ने विवाहपूर्व शारीरिक संबंध बना कर गलती की है और अब जब आप का विवाह होने वाला है तो आप को उस दोस्त के बात न करने से क्यों फर्क पड़ रहा है. आप उस से दूरी बना लें और प्रैगनैंसी के बारे में जानने के लिए मैडिकल टैस्ट करवाएं. जहां तक जिस लड़के से आप का विवाह हो रहा है, उसे जब तक आप या कोई और उसे नहीं बताएगा, उसे पता नहीं चलेगा. लेकिन, विवाह से पूर्व शारीरिक संबंध हमेशा शारीरिक और मानसिक समस्याओं को जन्म देते हैं, इस बात को हमेशा ध्यान में रखें.