सरिता विशेष

मैं 29 वर्षीय विवाहित महिला हूं. विवाह को अभी कुछ ही समय हुआ है. मेरी समस्या यह है कि पता नहीं मुझे ऐसा क्यों लगता है कि मेरे पति मुझ से प्यार नहीं करते और न ही अपने दिल की बात मुझ से शेयर करते हैं. वे मुझ से ज्यादा अपनी भाभी से खुले हुए हैं, उन से अपनी हर बात शेयर करते हैं. मुझे उन का ऐसा करना बिलकुल अच्छा नहीं लगता. मैं ऐसा क्या करूं कि वे मुझ से अपनी हर बात शेयर करें और हम दोनों के बीच नजदीकी और प्यार बढ़े?

आप ने बताया कि विवाह को अभी कुछ ही समय हुआ है. किसी भी रिश्ते में नजदीकी और प्यार के लिए समय व धैर्य की जरूरत होती है, आप के पति अपनी भाभी को आप से पहले से जानते हैं इसलिए वे शायद उन से हर बात शेयर करते हैं. आप व्यर्थ ही उन के रिश्ते पर शक न करें. भाभी से बात करें, उन्हें आप दोनों के जुड़ने की कड़ी बनाइए. भाभी से उन की पसंदनापसंद को जानें और पति के दिल को जीतने का प्रयास करें. दूसरा, अभी आप एकदूसरे के लिए अनजान हैं इसलिए शायद वे आप से अपने मन की बात करने में झिझकते हैं. आप अपने प्रयासों से उस झिझक को दूर करने का प्रयास कीजिए. समय के साथ सब ठीक हो जाएगा. अभी किसी की निर्णय पर पहुंचना जल्दबाजी होगी.

*

मैं एक विवाहित महिला हूं. पति की आयु 42 वर्ष है. हमारे विवाह को 21 साल हो गए हैं. हमारे 18 व 16 साल के 2 बच्चे हैं. हमारी जिंदगी बहुत अच्छे से चल रही थी. पर पिछले 1 साल से मेरे पति की जिंदगी में एक दूसरी औरत आ गई है. उस से वे घंटों फोन पर बात करते रहते हैं. मैं ने उन्हें समझाने की बहुत कोशिश की, घर के बड़ों ने भी बहुत समझाया पर उन पर किसी की बात का कोई असर नहीं है. वह औरत विधवा है और 3 बच्चों की मां है. मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा, मैं क्या करूं. मानसिक रूप से बहुत आहत और परेशान हूं. मार्गदर्शन कीजिए.

आप ने बताया कि पति उस महिला से फोन पर बात करते हैं. क्या उस महिला से बात करने के अलावा उन का व्यवहार आप के प्रति कुछ बदला है? क्या घर, परिवार, बच्चों की जिम्मेदारियों की वे अवहेलना कर रहे हैं? अगर ऐसा कुछ नहीं है तो व्यर्थ में बात को तूल मत दीजिए. ऐसे रिश्तों का कोई भविष्य नहीं होता. ऐसे रिश्ते ज्यादा देर तक नहीं टिकते. ये क्षणिक होते हैं. आप का व आप के पति का 21 साल पुराना रिश्ता है. 2 बड़े बच्चे हैं. आप के पति ऐसा कुछ नहीं करेंगे जिस से समाज में उन की बदनामी हो. आप थोड़े दिन इस बात को अनदेखा कीजिए. वे खुद रास्ते पर आ जाएंगे. क्योंकि दोनों तरफ से सिर्फ बातचीत है. आप के बारबार इस बात को तूल देने से हो सकता है बात और बिगड़ जाए.

*

मैं विवाहित महिला हूं. मेरी समस्या यह है कि मैं ने अपने पति के साथ 3 मार्च को संबंध बनाए थे उस के बाद मेरे पीरियड्स नहीं आए. मैं ने प्रेग्नैंसी टैस्ट के लिए प्रेगा न्यूज का प्रयोग किया तो टैस्ट में नैगेटिव आया. फिर भी अभी तक पीरियड्स न आने का क्या कोई और कारण भी हो सकता है, कृपया शंका का समाधान कीजिए?

जब कोई महिला किसी भी कारण से गर्भवती नहीं होना चाहती, ऐसे में पीरियड्स का मिस होना किसी मुसीबत से कम नहीं लगता. आप के केस में प्रेगनैंसी टैस्ट में  रिजल्ट नैगेटिव आया है और पीरियड्स शुरू नहीं हुए हैं तो इस के कई अन्य कारण भी हो सकते हैं. कई बार पारिवारिक तनाव, घर में किसी अप्रिय घटना का घट जाना, थायराइड अनियमित होना, पोलिसिस्टिक ओवरी, हार्मोन असंतुलन प्रीमेच्योर मेनोपौज या बर्थ कंट्रोल भी पीरियड्स न आने या अनियमित होने के कारण हो सकते हैं. पीरियड्स के न आने का कारण गाइनोकोलौजिस्ट से मिल कर ही पता चल सकता है. आप अपनी गाइनोकोलौजिस्ट से मिलें. वे कुछ टैस्ट द्वारा ही जान पाएंगी कि पीरियड्स न आने का वास्तविक कारण क्या है?

*

मेरी एक लड़के से पिछले 6 वर्षों से दोस्ती है और मुझे लगता है कि उस से सिर्फ मैं ही प्यार करती हूं. मुझे ऐसा क्यों लगता है कि वह मुझ से प्यार नहीं करता. मैं कैसे जानूं कि वह मुझ से प्यार करता है या नहीं?

6 वर्षों की दोस्ती में आप नहीं जान पा रही हैं कि वह आप से प्यार करता है अथवा नहीं. इस का अर्थ कहीं यह तो नहीं कि आप का प्यार एकतरफा हो. हो सकता है वह लड़का आप को प्यार की नजर से न देखता हो और आप को सिर्फ अपना अच्छा दोस्त समझता  हो. शायद इसलिए आप को भी लगता है कि वह आप से प्यार नहीं करता है. आप बातोंबातों में और आप के प्रति उस के व्यवहार से भी जान सकती हैं कि वह आप से प्यार करता है कि नहीं. आप चाहें तो उस से  साफसाफ भी अपने प्रति उस की फीलिंग्स जान सकती हैं. ऐसा कर के आप भी अपने रिश्ते में आगे बढ़ पाएंगी.

*

मैं एक विवाहित महिला हूं. हमारी वैवाहिक जिंदगी ठीक चल रही है लेकिन मेरी समस्या यह है कि जब भी मेरे पति किसी अन्य लड़की या महिला की तारीफ करते हैं तो मुझे ईर्ष्या होती है. मैं जानती हूं कि मैं पति को ले कर ओवर पजेसिव हो रही हूं. मैं जब भी उन से इस बारे में बात करती हूं हमारा झगड़ा हो जाता है. दरअसल मैं उन से बहुत प्यार करती हूं और उन्हें खोना नहीं चाहती.

अगर आप पति से प्यार करती हैं तो पति पर विश्वास भी रखें. शक कर के उन्हें अपने से दूर न करें. अपना प्यार जताएं व्यर्थ की दखलंदाजी न करें. जिन की वे तारीफ करते हैं उन जैसा बनने की कोशिश करें और उन का दिल जीतें.