मैं 26 वर्षीया युवती हूं. मातापिता का बचपन में ही देहांत हो गया था, तब से मैं अपनी मौसी व मौसा के साथ रहती हूं. मेरी मौसी एक प्राइवेट संस्थान में नौकरी करती हैं और मौसा घर पर  रहते हैं. मेरी समस्या यह है कि मौसी जैसे ही सुबह नौकरी पर चली जाती हैं, मौसा मेरे साथ जोरजबरदस्ती करते हैं और शारीरिक संबंध बनाने के लिए मजबूर करते हैं. शुरूशुरू में मैं ने उन्हें रोकने की बहुत कोशिश की पर वे अपनी बात पर अड़े रहे. वे मुझे धमकाते हैं कि अगर मैं ने उन की बात नहीं मानी तो वे किसी न किसी बहाने मुझे घर से निकाल देंगे और मुझे बदनाम कर देंगे. मौसी को इस बारे में कुछ भी पता नहीं है. मैं उन की इस जबरदस्ती से तंग आ चुकी हूं. जब भी मेरी शादी के लिए कोई रिश्ता आता है तो वे उस लड़के में कोई न कोई कमी निकाल कर शादी के लिए टाल देते हैं. मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा, मैं क्या करूं, कहां जाऊं? कोई आसरा नहीं है. क्या इस बारे में मुझे अपनी मौसी से बात करनी चाहिए? कहीं वे मुझ पर अविश्वास तो नहीं करेंगी? मैं डरती हूं कि मेरे मौसा के बारे में सचाई बताने से कहीं मौसी की जिंदगी बरबाद न हो जाए. मैं उन से कैसे पीछा छुड़ाऊं. मैं उन से नफरत करती हूं, फिर भी मजबूरीवश मुझे यहां रहना पड़ रहा है. मैं बहुत परेशान हूं. मेरी समस्या का समाधान करें.

युवतियों, महिलाओं के साथ शारीरिक शोषण की अधिकांश घटनाएं, उन के अपने घरों में, उन के अपने नजदीकी रिश्तेदारों द्वारा घटित होती हैं और डर व मजबूरीवश अधिकांश मासूम लड़कियां सबकुछ चुपचाप सहती रहती हैं. आप के साथ ऐसा ही हो रहा है. हमारी सलाह है कि आप बिना डरे इस शोषण के बारे में अपनी मौसी से बात करें और यदि आप को झिझक हो रही है तो घर के किसी विश्वस्त सदस्य को इस बारे में बताएं और उन्हें मौसी से इस बारे में बात करने को कहें. आप डर रही हैं, इसलिए आप के मौसा फायदा उठा रहे हैं. आप को अपने खिलाफ हो रहे इस अपराध के खिलाफ आवाज उठानी होगी और डट कर इस का मुकाबला करना होगा. आप की मौसी को अपने पति की इस गंदी हरकत का अवश्य पता चलना चाहिए. मौसी व मौसा के रिश्ते को बचाने के लिए आप अपनी जिंदगी दांव पर हरगिज न लगाएं. आप 26 वर्ष की हैं, अगर पढ़ीलिखी हैं, अपने पैरों पर खड़ी हैं तो यहां से चली जाएं लेकिन अपने मौसा की सचाई सब को बता कर जाएं, ताकि समाज के सामने उन का घिनौना चेहरा उजागर हो सके और उन्हें उन के दुष्कर्म की सजा मिले.

*

मैं 28 वर्षीया अविवाहित युवती हूं. 3 वर्षों से एक लड़के से प्यार करती थी. लेकिन 1 साल पहले उस लड़के की कहीं और शादी हो गई. वह लड़का कहता है कि उस ने मजबूरीवश शादी की थी और वह आज भी मुझ से प्यार करता है और शादी करना चाहता है. मैं बहुत कन्फ्यूज्ड हूं कि मैं क्या करूं. कृपया मेरी मदद कीजिए.

प्यार और शादी कोई गुड्डेगुडि़यों का खेल नहीं है. आप की बातों से लगता है कि आप ने इसे गुड्डेगुडि़यों का खेल ही समझ रखा है कि जब चाहे किसी से प्यार कर लिया, फिर किसी और से शादी कर ली, फिर पहले वाले से प्यार हो गया. में रिश्ते सोचसमझ कर बनाए व निभाए जाते हैं. आप के लिए यही सलाह है कि आप उस लड़के को भूल जाइए और उस से कहिए कि भले ही उस ने शादी मजबूरीवश की है लेकिन अब उस लड़की की जिंदगी बरबाद न करे. अब उसी के साथ निभाए. उसी से प्यार करे. आप उस लड़के की तरफ से ध्यान हटा कर अपनी नई भावी जिंदगी के बारे में सोचिए. जिंदगी दो नावों पर सवार हो कर नहीं जी जा सकती. अपने जीवन का एक लक्ष्य बनाइए और अपना ध्यान इधरउधर मत भटकाइए. आप के भटकाव से उस लड़की की जिंदगी तो बरबाद होगी ही, आप भी कहीं की न रहेंगी.

*

मैं एक विवाहित महिला हूं. उम्र 47 वर्ष है. मेरी समस्या यह है कि मेरे पति ने अब तक मुझ से कभी प्यार से बात नहीं की. जराजरा सी बात पर गुस्सा हो जाते हैं. सहवास में भी मेरी इच्छा या अनिच्छा उन के लिए कोई माने नहीं रखती. मुझे बेमन से उन का साथ देना पड़ता है. हाल ही में एक लड़का मेरी जिंदगी में आया है. वह उम्र में मुझ से काफी छोटा है. वह मुझे अच्छा लगता है लेकिन वह मुझे पसंद करता है या नहीं, यह मैं नहीं जानती पर मुझे उस में कुछ आकर्षण दिखाई देता है और मेरा मन उस के साथ शारीरिक संबंध बनाने को करता है पर डर के मारे मैं अभी तक हिम्मत नहीं कर पाई हूं. मैं क्या करूं? बहुत असमंजस की स्थिति में हूं. एक तरफ पति का बेरुखापन है तो दूसरी तरफ उस नवयुवक की तरफ आकर्षण. समझ नहीं आता क्या करूं. अपने मन को किस तरह समझाऊं.

आप ने इतने वर्षों तक पति का साथ निभाया है लेकिन आज आप को उन में कमियां दिखाई दे रही हैं. उम्र के इस पड़ाव पर अपने से कम उम्र के युवक के प्रति आप का आकर्षण आप को शोभा नहीं देता. आप ने यह नहीं बताया कि आप के बच्चे हैं या नहीं और अगर हैं तो कितने बड़े हैं. आप अपने बच्चों के भविष्य के बारे में सोचिए. उन में अपना मन लगाइए. और आप ने अब तक अगर उस लड़के से शारीरिक संबंध बनाने की हिम्मत नहीं की है तो आगे भी न करें. यह आप की और उस लड़के दोनों की जिंदगी में तूफान ले आएगा. वह लड़का अभी मैच्योर नहीं है, उसे सहीगलत की समझ नहीं है लेकिन आप समझदारी से काम लीजिए और अपने पति से जो शिकायत है उसे सुलझाने की कोशिश कीजिए.