सरिता विशेष

मैं 40 वर्षीय महिला हूं, ऐसे पुरुष से प्यार करती हूं जो मेरी ही उम्र का है और विवाहित है. लेकिन एक ही घर में रहते हुए वह व उस की पत्नी अलगअलग रहते हैं. उस की 3 साल की बेटी है. मैं यह सब जानते हुए भी उस से प्यार कर बैठी. क्या मैं गलत कर रही हूं? अगर गलत है तो उपाय बताइए.

एक विवाहित पुरुष से, वह भी जिस की एक बेटी भी है, प्यार करना एक बड़ा जोखिम लेना और खुद से खिलवाड़ करना है. आप का ऐसा करना उन पतिपत्नी के रिश्ते में मुश्किलें ही नहीं खड़ी करेगा बल्कि आप के हाथ भी कुछ नहीं लगेगा. पतिपत्नी के बीच अलगाव के कई कारण हो सकते हैं लेकिन यह जरूरी नहीं कि वह पुरुष आप के लिए अपनी पत्नी और बेटी को छोड़ ही देगा. और अगर छोड़ भी दे तो उस स्थिति में आप उस परिवार के बिखरने का कारण बनेंगी. इसलिए इस स्थिति में आप एक अच्छे दोस्त की तरह उस पुरुष से मात्र दोस्ती रखिए, उस के वैवाहिक जीवन में दरार का कारण मत बनिए. आप यह मान कर चलिए कि आप जो कर रही हैं उस में भविष्य में कोई लाभ न मिलेगा.

*

मैं 23 वर्षीय महिला हूं. विवाह को 3 वर्ष हो गए हैं. पति पुलिस विभाग में कौंस्टेबल हैं. मुझे पता चला है कि शादी से पहले मेरे पति किसी लड़की से प्यार करते थे जिस की अब शादी हो चुकी है और उस का एक बेटा भी है. मैं ने कई बार अपने पति को उस से बात करते भी सुना है. मैं अपने पति से बहुत प्यार करती हूं. मेरे पति दूसरे शहर में रहते हैं. मैं जब भी उन को अपने साथ ले जाने को कहती हूं, वे इनकार कर देते हैं. मुझे डर है कि उस लड़की का मेरे पति से अब भी रिश्ता है. मुझे अपने पति को उस लड़की से दूर करने के लिए क्या करना चाहिए?

शादी से पहले के संबंधों को आप अधिक तूल मत दीजिए, खासकर जब वह लड़की अब शादीशुदा है और उस का एक बेटा भी है. जहां तक उस लड़की के साथ आप के पति द्वारा बात करने की बात है, उसे सामान्य समझिए. हां, आप अपने पति से जिद कर अपने साथ ले जाने को कहिए. अपने साथ न ले जाने का कारण पूछिए. क्या पता आप को साथ न ले जाने का कोई सही कारण हो. मसलन, वहां रहने की सही सुविधा न होना आदि. पति का प्यार से दिल जीतिए और जब एक बार आप दोनों साथ रहने लगेंगे तो वे पुराने रिश्ते को भूल भी जाएंगे.

*

मैं 35 वर्षीय विवाहित पुरुष हूं और 2 बच्चों का पिता हूं. पिछले 5 वर्षों से मेरा एक तलाकशुदा महिला से बहुत गहरा संबंध था. मेरा यह संबंध शादी से पहले स्कूल टाइम में भी था. मेरी समस्या यह है कि कुछ दिनों पहले उस महिला की दूसरी शादी हो गई है और उस ने पूरी तरह से मुझ से रिश्ता तोड़ लिया है. यहां तक कि फोन पर भी बात करना छोड़ दिया है. उस का यह बदला व्यवहार मैं बरदाश्त नहीं कर पा रहा हूं. मैं पूरी तरह से टूट चुका हूं और शराब भी पीने लगा हूं. मैं क्या करूं, कुछ समझ नहीं आ रहा.

पहली बात तो यह कि एक विवाहित और 2 बच्चों के पिता को ऐसा संबंध रखना शोभा नहीं देता. लेकिन आप के केस में अच्छी बात यह है कि उस महिला की दूसरी जगह शादी हो गई है और उस ने स्वयं ही आप से सारे संबंध तोड़ लिए हैं. उस महिला की जुदाई में नशा करना समझदारी का काम नहीं है. आप के लिए अच्छा यही है कि आप अपना ध्यान अपने घरपरिवार और बच्चों पर लगाएं. धीरेधीरे सब सामान्य हो जाएगा.

*

मैं 28 वर्षीय महिला हूं, मेरा विवाह हुए 10 वर्ष हो चुके हैं. मेरे 3 बच्चे भी हैं. समस्या यह है कि पिछले 2 साल से  पति के तेवर कुछ बदलेबदले नजर आ रहे हैं. मैं ने उन के 2-3 अफेयर पकड़े हैं. आजकल वेअफीम भी खाने लगे हैं. और तो और, उन्होंने काम करना भी छोड़ दिया है. मैं बहुत परेशान हूं, क्या करूं? सलाह दीजिए.

आप के पति गलत संगत में पड़ चुके हैं जिस की वजह से उन्होंने घरपरिवार की जिम्मेदारी से अनदेखी कर ली है और कामकाज छोड़ कर घर पर बैठ गए हैं. उन का ऐसा रवैया अधिक दिन नहीं चल सकता क्योंकि घरपरिवार की जिम्मेदारी बिना पैसों के पूरी नहीं हो सकती. इस से पहले कि वे अपनी इस आदत के कारण किसी अपराध में संलग्न हो जाएं या किसी अन्य मुसीबत में पड़ जाएं, वे जब भी सामान्य हों उन से साफसाफ बात कीजिए. अगर वे सुधर जाते हैं तो ठीक है वरना कानूनी मदद ले सकती हैं, जिस में उन्हें आप को गुजाराभत्ता तो देना ही होगा.

*

मैं 30 वर्षीय विवाहित महिला हूं. विवाह को 8 वर्ष हो गए हैं. सासससुर साथ में रहते हैं. मेरी सास मुझ से बहुत बुरा व्यवहार करती हैं. घर काफी बड़ा है, साफसफाई को ले कर हमेशा ताने मारती हैं. मेरे 3 बच्चे भी हैं. कुल मिला कर हम 7 लोग हैं. सास तानाशाही चलाती हैं. कामवाली लगाने नहीं देतीं. हम अलग भी नहीं हो सकते. कृपया मेरी समस्या का समाधान बताइए.

जहां तक साफसफाई का सवाल है बड़ेबुजुर्गों को यह समस्या रहती है. वे अपने समय से तुलना करते हैं कि हम ऐसा करते थे, हम इतना काम अकेले कर लेते थे. लेकिन शायद वे नहीं जानते तब बड़ेबड़े परिवार हुआ करते थे जहां मिलजुल कर काम हो जाते थे. लेकिन आप के केस में आप के 3 छोटे बच्चे भी हैं और आप अकेली हैं. इसलिए पति से बात कीजिए और मदद के लिए किसी कामवाली को लगवाने को कहिए. आप अलग होने की मत सोचिए क्योंकि इस से न केवल आर्थिक बोझ बढ़ेगा बल्कि छोटे बच्चों की देखभाल में बुजुर्गों की जो सलाह व सहारा मिल रहा है उस से आप वंचित भी हो जाएंगी.