सरिता विशेष
मैं  54 वर्षीय 2 बच्चों का पिता हूं. कुछ महीने पहले मेरी 22 वर्षीय पुत्री का उस की उम्र से बड़े एक युवक ने अकेले में बलात्कार किया. पुत्री 2 दिन लापता रहने के बाद पुलिस स्टेशन में निर्वस्त्र हालत में मिली. बदनामी के डर से दोनों अब विवाह करना चाहते हैं और मुंबई में रहना चाहते हैं. बेटी की अभिनय में रुचि है और वह विवाह के बाद बौलीवुड में काम करने की इच्छुक है. बलात्कारी युवक को इस में कोई आपत्ति नहीं है. क्या मैं दोनों के इस प्रस्ताव को स्वीकार कर लूं? ऐसा करने से मेरी बेटी के भविष्य में कोई समस्या तो नहीं आएगी? सलाह दीजिए.
समाज में आज भी बलात्कार पीडि़त युवती को सम्मान की निगाह से नहीं देखा जाता और उस के लिए वैवाहिक रिश्ते मिलना अत्यंत कठिन होता है. ऐसे में अगर बलात्कारी युवक आप की बेटी के साथ विवाह करना चाहता है और उसे उस की इच्छा से जीने की आजादी भी दे रहा है तो आप को उस के विवाह के प्रस्ताव को स्वीकार कर लेना चाहिए. ऐसा कर के शायद वह युवक अपनी गलती मान कर आप की बेटी की जिम्मेदारी लेना चाहता है. रेप कर के अपनी जिम्मेदारी से बचने की अपेक्षा विवाह कर के दूसरे शहर में रहने का दोनों का निर्णय सही है.
बलात्कारी अकसर पेशेवर अपराधी नहीं होते. वे मौका देख कर अपनी कामइच्छा को बलपूर्वक पूरा करना चाहते हैं. बाद में वे सामान्य जीवन जीते हैं इसलिए यह जोखिम लिया जा सकता है.
 
मैं 17 वर्षीय युवक हूं. मेरा कद 5 फुट 11 इंच है और वजन 80 किलोग्राम है. पढ़ाई में मैं अच्छा हूं. घर में इकलौता होने के कारण मातापिता के लाड़प्यार के चलते वजन बढ़ गया है. छाती भी लड़कियों की तरह हो गई है. बाजार में मेरे नाप के कपड़े नहीं मिलते. मैं क्या करूं जिस से मैं खोया शारीरिक आकर्षण वापस पा सकूं और दोस्तों के बीच लोकप्रिय हो सकूं?
घर में इकलौता होने का अर्थ यह नहीं कि आप अपने व्यक्तित्व और शारीरिक फिटनैस की ओर ध्यान देना छोड़ दें. आप की लापरवाही की वजह से ही आप का वजन बढ़ गया है और लड़कियों की तरह छाती होने को ‘मेल ब्रैस्ट’ होना कहते हैं जो व्यायाम के अभाव और अनियमित खानपान के कारण होता है. इन सब से बचने के लिए आप रैगुलर ऐक्सरसाइज करें व संतुलित खानपान का नियम बनाएं. इस से आप का वजन भी कम होगा और आप के व्यक्तित्व में भी निखार आएगा.
 
मैं और मेरा बौयफ्रैंड एकदूसरे से प्यार करते हैं और विवाह करना चाहते हैं, लेकिन लड़के के मातापिता मांगलिक दोष को ले कर विवाह में समस्या पैदा कर रहे हैं. कृपया ऐसे व्यक्ति के बारे में बताएं जो विवाह के लिए मांगलिक दोष की समस्या का समाधान बता सके?
वैवाहिक मामलों में मांगलिक दोष जैसी अड़चन पंडितों द्वारा अपने स्वार्थ के लिए गढ़ी जाती है. ऐसा पंडितों द्वारा पैसा ऐंठने और लोगों को गुमराह करने के उद्देश्य से किया जाता है जबकि वास्तव में यह सिर्फ अंधविश्वास होता है. अनेक ऐसे वैवाहिक संबंध होते हैं जो इन दोषों को दूर करने के बावजूद असफल हो जाते हैं इसलिए इस दोष को दूर करने वाले व्यक्ति को ढूंढ़ने के बजाय व्यर्थ के अंधविश्वास को छोड़ कर  बिना किसी वहम के अपने वैवाहिक जीवन की शुरुआत करें.
 
मैं 23 वर्षीय एमबीबीएस, तृतीय वर्ष की छात्रा हूं. मेरा एक बौयफ्रैंड है. हम दोनों एकदूसरे से फोन पर बात करते हैं. पिछले दिनों मैं उस से मिली तो उस ने बताया कि उस की पहले भी एक गर्लफ्रैंड थी जो रिश्ते में उस के मामा की बेटी है. अब उस का उस लड़की से ब्रेकअप हो गया है जिस की वजह से मेरा दोस्त डिप्रैशन में चला गया है और मुझ पर भी विश्वास नहीं करता और मुझ से बुरा बरताव करता है. मैं समझ नहीं पा रही हूं कि क्या वह सचमुच मुझ से प्यार करता है या पिछली गर्लफ्रैंड को भुलाने के लिए मेरा साथ चाहता है. मैं उस से प्यार करती हूं लेकिन साथ ही मेरी पारिवारिक जिम्मेदारियां भी हैं. ऐसे में क्या मैं उस पर विश्वास करूं और अपने रिश्ते को आगे बढ़ाऊं? सही सलाह दीजिए.
जब आप किसी के साथ प्यार में होते हैं तो समझ नहीं पाते कि आप का पार्टनर आप के साथ सिर्फ मतलब के लिए जुड़ा है और आप को इस्तेमाल कर रहा है. ऐसे में अपने प्यार को किसी तीसरे की नजर से देखें और फिर निर्णय लें कि आप को उस रिश्ते में रहना है या बाहर निकलना है. अगर आप की मुलाकातें अकसर तभी होती हैं जब आप के पार्टनर को आप की जरूरत होती है और आप की जरूरत पर वह उपस्थित नहीं रहता तो आप को अपने रिश्ते पर सोचने की जरूरत है क्योंकि इस का अर्थ है कि आप का पार्टनर आप के साथ मतलब के लिए जुड़ा है.
 
मैं 26 वर्षीय विवाहित महिला हूं. विवाह को 2 साल हो गए हैं. पति 12वीं पास हैं और मैं बीए पास हूं. पति का काम सही ढंग से नहीं चलता जिस की वजह से घर में सास की मरजी चलती है. मुझे अपनी पसंद का खाने, पहनने, कहीं आनेजाने की भी आजादी नहीं है. घर के सभी काम करती हूं पर मुझे खर्चे के लिए एक भी पैसा नहीं दिया जाता. कुछ करना चाहती हूं लेकिन समझ नहीं आता क्या और कैसे करूं. बहुत परेशान हूं. सलाह दीजिए.
आप का कुछ न करना ही आप की परेशानी का कारण है. आप शिक्षित हैं तो अपनी शिक्षा का सदुपयोग कीजिए. बच्चों को ट्यूशन पढ़ाइए या अन्य कोई मनपसंद काम कीजिए और आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनिए. जब घर की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी तो आप में आत्म- विश्वास जागेगा और घर के निर्णयों में आप की भी राय ली जाएगी. -कंचन द्य