सरिता विशेष

मैं 30 वर्षीय महिला हूं. मुझ से एक लड़के ने कहा कि वह मुझ से बहुत प्यार करता है. मैं ने उस की बात पर भरोसा कर लिया और मैं भी उस से आकर्षित हो कर उस से प्यार करने लगी. इसी दौरान एक दिन उस लड़के ने मेरी मांग में सिंदूर भर दिया और गले में मंगलसूत्र पहना दिया. लेकिन अब वह मुझ से बात भी नहीं करता है. इस स्थिति में मैं क्या करूं?

पहली गलती आप की है कि आप ने भावनाओं में बह कर उस लड़के की चिकनीचुपड़ी बातों पर विश्वास कर लिया और उसी विश्वास का उस लड़के ने फायदा उठाया. उस ने आप की मांग में सिंदूर और गले में मंगलसूत्र सिर्फ मजे के लिए पहनाया. अगर वह आप से वास्तव में विवाह करना चाहता तो अपने परिवार वालों से आप को मिलवाता और जो भी करता सब के सामने करता. आप इस घटना को सिर्फ एक बचकानी हरकत समझ कर भूल जाइए और एक परिपक्व महिला की तरह व्यवहार कीजिए, इसी में आप की भलाई है.

मेरी 45 वर्षीय मां सरकारी नौकरी में हैं. घर में पापा और भाई हैं. 7 वर्ष पूर्व मां ने एक लड़के से रौंग नंबर पर बात की थी. लड़के को फोन पर मां का स्वभाव इतना पसंद आया कि वह उन से बिना मिले ही 2 साल तक फोन पर बातें करता रहा. मां ने उस लड़के को अपनी उम्र 35 वर्ष बताई थी. मां ने ऐसा सिर्फ मजाक में किया था. अब वह लड़का कहीं और चला गया है तो पिछले 5 वर्षों से मां इसी तरह किसी और लड़के से फोन पर बात करती हैं. दोनों एकदूसरे को खूब मैसेज भेजते हैं. मां घर और औफिस की सभी जिम्मेदारियों को बखूबी नियमित रूप से निभाती भी हैं. समाज में उन्हें पूरा मानसम्मान मिलता है. वह लड़का अब एक डिगरी कालेज में नौकरी कर रहा है. दोनों गर्लफ्रैंड बौयफ्रैंड की तरह बातें करते हैं. मैं जानना चाहती हूं कि मेरी मां क्या मानसिक रूप से बीमार हैं?

आप की मां पूरी तरह से स्वस्थ हैं. जिस तरह आप स्कूलफ्रैंड, कालेजफ्रैंड, औफिसफ्रैंड बनाते हैं ठीक उसी तरह उन लड़कों का आप की मां के साथ फोनफ्रैंड का रिश्ता है. अगर आप की मां को और उन लड़कों को एकदूसरे से बात कर के अच्छा लगता है तो इस में कुछ गलत नहीं है क्योंकि उन्हें अपनी सीमाओं की जानकारी है. आप की मां समझदार, कर्तव्यनिष्ठ महिला हैं. कई बार कोई हमें इतना अच्छा लगता है कि हम उस से बिना मिले ही बात करते रहते हैं. ऐसा ही कुछ आप की मां के साथ है. इसे दोस्ताना संस्कृति का हिस्सा मानिए जिस में उम्र नहीं देखी जाती. मां के इस व्यवहार को सामान्य समझिए और बेफिक्र रहिए क्योंकि वे आप से कुछ भी छिपा नहीं रही हैं.

मेरे विवाह को 2 महीने हो गए हैं, फिर भी मेरे पति हर रोज मेरे साथ सैक्स करना चाहते हैं. इस से मुझे बहुत तकलीफ होती है. वे मानते नहीं हैं. इस से बचने का कोई तरीका बताइए?

आप के विवाह को 2 महीने ही हुए हैं. ऐेसे में पति का सैक्स इच्छा रखना जायज है. जहां तक आप को सैक्स के दौरान तकलीफ होने की समस्या है उस के लिए आप किसी अच्छे ब्रैंड के ल्यूब्रिकेंट का प्रयोग करें और पति को फोरप्ले के लिए प्रेरित करें. इस से तकलीफ कम होगी. इस के अलावा आप इंटरकोर्स को आनंददायक बनाने के लिए माहौल को खुशनुमा बनाएं, सैक्स के प्रति अपने मन में उपजे भय को भगाएं, साथ ही सैक्स इच्छा बढ़ाने के लिए किसी स्त्री रोग विशेषज्ञ से भी सलाह लें.

मैं 60 वर्षीय सेवानिवृत्त पुरुष हूं. पत्नी 54 वर्षीय सेवारत डिप्रैशन से गुजर रही महिला हैं. 7 वर्ष पूर्व हमारे साथ एक अत्यंत दुखदायी घटना हो गई थी, हम ने अपने युवा पुत्र को खोया था. बेटाबहू बाहर रहते हैं जो अपनी दुनिया में मस्त हैं. समस्या यह है कि उस दुर्घटना के बाद से पत्नी को सैक्स से नफरत हो गई है और वह साधुमहात्माओं पूजापाठ में व्यस्त रहती हैं. बहुत कहने पर भी महीने में 1-2 बार ही सैक्स हो पाता है. हैरानी की बात यह है कि डिप्रैशन, सैक्स से अरुचि के बावजूद अपने साजशृंगार में उन की पूरी रुचि रहती है. मैं पत्नी के इस रवैये से परेशान हूं. मैं सप्ताह में 2 दिन सहवास की इच्छा रखता हूं. मैं जानना चाहता हूं कि 60 वर्ष की उम्र में मेरा सैक्स की मांग करना अनुचित तो नहीं है?

आप अपनी पत्नी की तरफ से शारीरिक अलगाव की समस्या से जूझ रहे हैं जो आप की जरूरत है. यह मांग कदापि गलत नहीं है. विश्वस्तर पर हुई अनेक रिसर्च भी यही साबित करती हैं कि सैक्स की जरूरत का उम्र से कोई लेनादेना नहीं है. सैक्स स्वस्थ व सुखी जीवन के लिए बेहद उपयोगी साबित होता है. सैक्स स्वस्थ रहने का बेहतरीन टौनिक है. जैसे पेट की भूख मिटाने के लिए भोजन जरूरी है उसी तरह मन की भूख मिटाने के लिए सैक्स जरूरी है. आप की पत्नी का साधुमहात्मा, मठमंदिर में व्यस्त होना ही उन में सैक्स के प्रति नीरसता ला रहा है. आप इस बारे में पत्नी को सम झाएं और अपनी जरूरत बताएं. उन के बनावशृंगार की तारीफ करें व नजदीकियां बढ़ाएं और साथ ही, अपने मन से सैक्स की मांग को गलत सम झने का अपराधभाव निकाल दें.

मैं 35 वर्षीय विवाहित पुरुष हूं. मेरी पत्नी शारीरिक संबंधों को ले कर मुझ से संतुष्ट नहीं रहती है. पिछले दिनों मैं ने पत्नी को किसी अन्य पुरुष के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया. अब मेरी पत्नी के साथ शारीरिक संबंध बनाने की इच्छा नहीं होती. क्या करूं?

क्या कभी आप ने अपनी पत्नी से यह जानने की कोशिश की कि वह आप से संतुष्ट क्यों नहीं है? अपनी कमी को दूर करने के लिए किसी सैक्सोलौजिस्ट से संपर्क करें. पत्नी को किसी और के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देखने की घटना को एक दुर्घटना समझ कर भूल जाएं और पत्नी को संतुष्ट करने का प्रयास करें. जब पत्नी आप से संतुष्ट होगी तो सबकुछ सामान्य हो जाएगा.