मैं 30 वर्षीया, तलाकशुदा, 5 वर्षीय बेटे की मां हूं. एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करती हूं. मेरे मातापिता मेरे पुनर्विवाह पर जोर डाल रहे हैं. मुझे डर है कि मेरा दूसरा विवाह सफल होगा या नहीं? क्या मेरे होने वाले पति मेरे बेटे को पूरा प्यार देंगे?

आज सौतेले पिता अपनी सीमाओं को समझते हैं. अगर आप या आप के सगेसंबंधी बेटे को बहकाएं नहीं तो पितापुत्र संबंध अच्छा बन सकता है. इसलिए केवल इसी कारण से आप पुनर्विवाह का विरोध न करें. आप को लंबा जीवन बिताना है और बिना पुरुष सैक्स के यह आसान नहीं है. दूसरे विवाह पर ना न करें और आत्मविश्वास के साथ विवाह करें.

 

मैं शादीशुदा, 35 वर्षीया महिला हूं. पिछले दिनों मेरी मुलाकात मेरे पुराने कालेज फ्रैंड से हुई जो शादीशुदा है. हमारी कई बार फोन पर बात हुई और हम पुराने दोस्तों की तरह 1-2 बार मिले भी. लेकिन मुझे पता चला है कि दोस्त की पत्नी को हमारी बातचीत व मिलनेजुलने पर एतराज है. वह हमारे रिश्ते पर शक करती है. मैं क्या करूं? मैं न तो दोस्त का घर बरबाद होते देख सकती हूं और न ही दोस्त को खोना चाहती हूं.

आप अच्छे दोस्त हैं, यह केवल आप और आप का दोस्त जानता है, दोस्त की पत्नी नहीं. इसलिए आप अपने दोस्त की पत्नी से मिलें, बात करें, उन के शक का समाधान करें और समझाएं कि आप केवल अच्छे दोस्त हैं. इस तरह दोस्त की पत्नी को आप की दोस्ती पर शक नहीं होगा और आप अपने दोस्त को भी नहीं खोएंगी. आप चाहें तो अपनी फैमिली के साथ अपने दोस्त के परिवार का फैमिली गेटटुगेदर भी कर सकती हैं. इस से दोनों परिवारों के बीच प्यार बढ़ेगा और आप की दोस्ती भी बरकरार रहेगी. वैसे भी ऐसे मामलों में दोस्ती की चर्चा घर में ज्यादा नहीं करनी चाहिए और इसे छिपा कर रखना चाहिए.

 

मैं अपनी 13 वर्षीया बेटी को ले कर बहुत परेशान हूं. आजकल वह अपना अधिकांश समय अपने दोस्तों के साथ व्यतीत करती है. हर समय उन से चैटिंग करती रहती है. मुझे डर है कि उस के दोस्तों का उस पर नैगेटिव प्रभाव न पड़े.

उम्र के इस दौर में किशोरों का अपने दोस्तों के प्रति झुकाव या विश्वास सामान्य बात है. लेकिन साथ ही यह समय आप के सजग रहने का भी है. बेटी के दोस्तों के बारे में जानें, उन्हें अपने घर पर बुलाएं. अगर बेटी के दोस्त अच्छे संस्कारी परिवारों के हैं तो बेटी पर कोई नेगेटिव प्रभाव नहीं पड़ेगा बल्कि दोस्त अगर अच्छे हों तो बच्चों पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है और वे गलत राह पर नहीं भटकते. अपनी बेटी को अच्छे व बुरे दोस्तों की परख करना सिखाएं और स्वयं भी बेटी से दोस्ताना व्यवहार रखें.

 

मैं 22 वर्षीय अविवाहित युवक हूं. घर में मेरी शादी की बात चल रही है. मुझे लड़की भी बेहद पसंद है पर एक बात है जो मुझे परेशान कर रही है. दरअसल, कालेज के दिनों में मेरा अपनी एक गर्लफ्रैंड के साथ शारीरिक संबंध स्थापित हो गया था. अब मेरा उस लड़की से कोई संबंध नहीं है, क्या जिस लड़की से मैं शादी कर रहा हूं उसे मुझे इस बारे में बताना चाहिए? बताने पर कहीं वह मुझ से विवाह के लिए इनकार तो नहीं कर देगी?जो घटना घट चुकी है उसे एक हादसा समझ कर भूल जाइए और जिस लड़की से विवाह की बात चल रही है उसे इस बारे में बताने की भूल बिलकुल भी न कीजिए. नए रिश्ते की शुरुआत नए सिरे से कीजिए और उसे पूरी ईमानदारी, प्यार और विश्वास के साथ निभाइए.

 

मैं 28 वर्षीया उच्चशिक्षित, विवाहिता हूं. पति का अच्छा व्यवसाय है. घर की आर्थिक स्थिति भी अच्छी है. पर मैं घर पर बैठेबैठे बोर हो जाती हूं और कोई नौकरी करना चाहती हूं. ऐसा कर के मैं अपनी शिक्षा और समय का सदुपयोग करना चाहती हूं लेकिन पति और सास मेरे नौकरी करने के सख्त खिलाफ हैं. उन्हें मेरा बाहर जा कर नौकरी करना पसंद नहीं. आप ही बताइए, मैं क्या करूं?

सब से पहले आप अपने पति और सास को समझाइए कि आप पैसों के लिए नहीं बल्कि अपनी खुशी के लिए नौकरी करना चाहती हैं. शायद उन्हें आप की यह बात समझ आ जाए. अगर तब भी बात न बने तो आप घर से ही कुछ व्यवसाय कर सकती हैं या पति के व्यवसाय में मदद कर के अपनी शिक्षा और समय का सदुपयोग कर सकती हैं. ऐसा करने से पति की शिकायत भी दूर हो जाएगी और आप की शिक्षा और समय दोनों का सदुपयोग हो जाएगा.

 

मैं 21 वर्षीय छात्र हूं. पिछले दिनों फेसबुक पर मेरी एक लड़के से फ्रैंडशिप हुई. हमारी औनलाइन चैटिंग होती थी. फिर एक दिन अचानक उस फ्रैंड ने मुझे बताया कि वह लड़का नहीं बल्कि लड़की है. क्या ऐसा भी होता है? हालांकि मैं ने उस से कोई व्यक्तिगत बातें शेयर नहीं कीं फिर भी वह लड़की जबरदस्ती मेरे पीछे पड़ी है. क्या वह मुझे कोई नुकसान पहुंचा सकती है? आप ही बताइए, मैं क्या करूं?

फेसबुक पर ‘फेक आई डी’ बना कर दोस्ती करना आम बात है और इस दौरान ज्यादा नजदीकियां या व्यक्तिगत बातें शेयर करना नुकसानदेह हो सकता है. आप के केस में अच्छी बात है कि आप ने उस से कोई व्यक्तिगत बातें शेयर नहीं कीं. आप अपने अकाउंट से उस फ्रैंड को डिलीट कर दीजिए. आगे भी ध्यान रखिए केवल उन्हीं लोगों को फ्रैंड लिस्ट में शामिल कीजिए जिन्हें आप व्यक्तिगत रूप से जानते हैं. वैसे भी यह समय आप का पढ़ाईलिखाई व कैरियर बनाने का है, इसे फेसबुक जैसी साइट पर दोस्तों से चैटिंग करने में बरबाद मत कीजिए.