सरिता विशेष

भाजपा सांसद पूनम महाजन के ठाठ निराले हैं. बीते दिनों वे एक सरकारी जलसे में हिस्सा लेने सागर आई थीं पर गईं तो 2 डब्बों वाली स्पैशल ट्रेन में सवार हो कर, जिस का उल्लेख भारतीय रेलवे के किसी टाइमटेबल में नहीं है. हुआ यों था कि पूनम को भोपाल आ कर फ्लाइट पकड़नी थी और उन के पास वक्त महज 2 घंटे का था. सड़क के रास्ते से जातीं तो फ्लाइट छूट जाती. लिहाजा, पश्चिम मध्य क्षेत्र रेलवे के अधिकारियों ने नियमकानून की परवा न करते तुरंत स्पैशल ट्रेन प्लेटफौर्म पर लगवा दी. जिन अधिकारियों ने नियम के विरुद्ध जा कर यह कारनामा कर दिखाया उन के खिलाफ कुछ नहीं हुआ. अब हैरत इस बात की होगी कि उन्हें प्रमोशन क्यों नहीं दिया जा रहा. बेहतर तो यह होगा कि सरकार हरेक सांसद के घर के बाहर 2 डब्बों वाली ऐसी ट्रेनें खड़ी करवा दे जिस से जनसेवा फुरती से हो.