मुसलमानों से कोई खतरा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को हो न हो, पर मुसलमानों को जरूर उन्हें ले कर हर कहीं जिल्लत और जलालत से रूबरू होना पड़ता है. 22 नवंबर को उन की बलिया वाली रैली में एक मुसलिम महिला सायरा का बुर्का पुलिस वालों ने सुरक्षा कारणों का हवाला देते उतरवा लिया तो किसी की हिम्मत प्रथा या रिवाज का हवाला देने की नहीं पड़ी.

अब कट्टर मुसलिमवादियों को नया डर यह जरूर सता सकता है कि कहीं अब योगी-मोदी यह भी न कहने लगें कि मुसलिम बहनों को बुर्के में घुटन होती है, इसलिए परदा करने की जरूरत नहीं है जैसे तीन तलाक खत्म हो गया वैसे यह भी…