‘खानेपकाने के लिए और कुछ हो न हो, हर गरीब के घर में एलपीजी गैस सिलैंडर जरूर होना चाहिए’ के नेक मकसद से सरकार अब उज्ज्वला प्लस योजना पेश करने जा रही है जिस का नाम अगर पुण्य प्लस रखा जाता तो जरूर ज्यादा सफलता मिलती. योजना बेहद स्पष्ट है कि जेब में अगर पैसा है तो महज 1,600 रुपए का गैस सिलैंडर आप किसी गरीब को गिफ्ट कर स्वर्ग में भी और सरकारी खाते में भी पुण्य वाली सीट आरक्षित कर सकते हैं.

गैरधार्मिक दानपुण्य को प्रोत्साहित करने का यह आइडिया कितना चलेगा, यह तो वक्त बताएगा लेकिन बात कुछकुछ ऐसी है कि हर जगह शौचालयजरूर होने चाहिए जिन के होने भर से स्वच्छता का संदेश बदबू के रूप में प्रसारित होता रहता है. फिर भले ही लोगों के पेट में निष्कासन के लिए कुछ हो न हो. लोगों की जेबें ढीली करवाने के विशेषज्ञ होते जा रहे नरेंद्र मोदी को अब पुण्यपुरुष कहने में भी हर्ज नहीं.

COMMENT