विदेशियों से दोस्ती गांठने में माहिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने पिछले अमेरिकी दौरे के दौरान वहां के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप को अलग से और खासतौर से आमंत्रित कर आए थे. इवांका हैदराबाद में 28 नवंबर से 7 जनवरी तक के लिए आएंगी. ग्लोबल एंटरप्रेन्योर समिट विदेशी निवेश के लिहाज से एक महत्त्वपूर्ण आयोजन है.

समिट की तैयारियों का एक अहम कदम हैदराबाद के भिखारियों को वहां से खदेड़ना है जिन्हें कह दिया गया है कि वे कहीं और चले जाएं फिर 8 जनवरी को वापस पूर्ववत भिक्षावृत्ति करें. नरेंद्र मोदी नहीं चाहते कि दुनिया के सब से धनाढ्य और शक्तिशाली देश के राष्ट्रपति की बेटी को भिखारी दिखें.

खुद विदेशी उद्योगपतियों और विदेशों से मदद के नाम पर समारोहपूर्वक भीख मांगने जा रही सरकार भिखारियों से घबराई हुई है तो बात हैरत की है. निश्चित रूप से इवांका सभी के आकर्षण का केंद्र रहेंगी. इसीलिए उन के स्वागत में लाल कालीन बिछाई जा रही है.