आमतौर पर भाजपा और नरेंद्र मोदी की शान में कसीदे गढ़ती रहने वाली जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की जबां पर दिल की बात आ ही गई कि उन की नजर में इंदिरा गांधी ही इंडिया थीं. इस के पहले वे अपनी तरफ से भाजपा को नाराज करने की पूरी कोशिश करते धारा 370 से छेड़छाड़ न करने की धौंस भी दे चुकी थीं कि अगर संविधान के अनुच्छेद 35ए से छेड़छाड़ की गई तो कश्मीर में कोई तिरंगा उठाने वाला भी नहीं मिलेगा.

महबूबा अब भाजपा के सहयोग से मुक्ति चाहती हैं पर भाजपा इन गंभीर बयानों पर भी गौर नहीं कर रही, तो महबूबा को अपना खिसकता वोटबैंक देखते काफी परेशानी हो रही है. अब कोई नया धमाका वे भाजपा को नाराज करने का कर डालें तो बात कतई हैरत की नहीं होगी.