सरिता विशेष

जिस थाली में खाओ, उस में छेद मत करो, कहनेभर की बात है वरना देशभर में होता यही है कि जनता के पैसों से नेता खूब महंगी दावतें उड़ाते हैं पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने तो हद ही कर दी जो आप सरकार की पहली सालगिरह पर 12 हजार रुपए थाली वाला खाना खिलाया.

महंगाई के इस दौर में कई राज्य सरकारें 5 रुपए में भरपेट भोजन वाली थाली मुहैया करा रही हैं और दिल्ली में  थाली की कीमत आसमान पार कर जाती है. यह बात चिंता की नहीं, बल्कि शोध की है कि उस थाली में क्याक्या नहीं रहा होगा. बारह सौ और बारह हजार की गफलत में शायद मामला सुलझ जाए पर केजरीवाल को अपनी नीयत और मंशा तो साफ रखनी पड़ेगी वरना लोग थाली में झाड़ू लगाने से भी नहीं चूकने वाले. अच्छा होगा अगर सभी राज्य सरकारें अपनी दावती थाली की कीमत सार्वजनिक करें और उस से भी अच्छा यह होगा कि यह थाली सिस्टम ही खत्म किया जाए.