छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने बहुत कम शब्दों में एक सच बता दिया है कि अगर विधायक और निगम अध्यक्ष एक साल कमीशन न खाएं तो भाजपा 30 साल सत्ता में रह सकती है.

यह व्यथित बयान कई वजहों के चलते अहम है जिन में पहली, रमन सिंह की अगले साल होने वाले चुनाव को ले कर घबराहट है, दूसरी उन का यह मान लेना है कि भाजपा विधायक ही कमीशन खाते हैं और इतना खाते हैं कि नक्सल प्रभावित आदिवासी बाहुल्य यह राज्य एक साल में 30 साल पिछड़ जाता है. इस स्वीकारोक्ति के नतीजे आने वाला वक्त ही बताएगा. पर बेहतर होता कि वे एक साल के बजाय हमेशा के लिए कमीशनखोरों को हड़काते और उन्हें सत्ता व पार्र्टी से बाहर निकालते. हालांकि, ऐसा करने से 8-10 विधायक ही पार्टी में बचते.