सरिता विशेष

मोदी का डिजाइनर मेकओवर

हर दौर में देशवासी चाहते रहे हैं कि हमारा प्रधानमंत्री जो भी हो, दूसरे देशों के राजनयिकों से उन्नीस न लगे यानी स्मार्ट, खूबसूरत और टिपटौप दिखे. नरेंद्र मोदी के डिजाइनर मेकओवर की तैयारी हो रही है. उन्हें सितंबर में प्रतीक्षित अमेरिकी यात्रा करनी है. मुंबई के ट्राय कांस्टा नामी डिजाइनर हैं जो प्रधानमंत्री की ग्लोबल इमेज गढ़ रहे हैं यानी मोदी नए लुक में अमेरिका जाएंगे. उन के तेवर तो बदले होंगे ही. हाफ बांह का कुरता मोदी ने बारिश के पहले तक पहना था. अब शायद वे सूट, पैंट और शर्ट की तरफ बढ़ रहे हैं. पीएम की पोशाक कैसी होनी चाहिए, इस पर हर एक की अपनी राय है जिस का सार यह है कि बराक ओबामा को टक्कर देती होनी चाहिए.

पलट गया पासा

नटवर सिंह कौन हैं, यह याद करने के लिए आम लोगों को दिमाग पर जोर डालना पड़ता है तब याद आता है कि वे कभी विदेशी मंत्री हुआ करते थे और उन दर्जनों कांग्रेसियों में से एक हैं जिन्हें सोनिया गांधी ने मुंह लगा कर बाद में हाशिए पर ढकेल दिया. अब इन्हीं नटवर से सोनिया को मुंह छिपा कर मिलना पड़ रहा है. वजह, एक किताब है जिस का नाम है, ‘वन लाइफ इज नौट एनफ’. सोनिया नहीं चाहतीं कि यह किताब प्रकाशित हो जिस का विमोचन पूर्व अटौर्नी जनरल सोली सोराबजी के कर कमलों द्वारा होना तय हुआ है. इस पुस्तक में धमाकेदार सामग्री की गंध महसूस की जा रही है. वैसे भी, राजनीति में किताबों का चलन बेवजह नहीं बढ़ रहा है जो प्रकाशन के पहले ही बिकने लायक चर्चित कर दी जाती हैं.

अजीज की अजीब बातें

अजीज कुरैशी इन दिनों उत्तर प्रदेश के भी प्रभारी राज्यपाल हैं, उन की राय में भगवान भी चाहे तो बलात्कार नहीं रोक सकता. बलात्कार और दुष्कर्म के बढ़ते मामलों पर हर एक नेता का अपना अलग दर्शन है जो सभी ने सुना पर भगवान को भी घसीटता हुआ बयान पहली बार आया. सार यह है कि बलात्कार भी भगवान की मरजी से होते हैं. धर्मग्रंथ भी बलात्कार संबंधी प्रसंगों से भरे पड़े हैं. ऋषिमुनि, साधुसंत बातबात पर बलात्कार कर डालते थे यानी कि बलात्कार पुरुष का शौक है और पौरुष भी है. अच्छा तो यह रहा कि किसी ने यह एतराज नहीं जताया कि कुरैशी को भगवान की जगह अल्लाह शब्द का इस्तेमाल करना चाहिए था. यानी, बलात्कार पर ऊपर वाले भी एक हैं.

दाल में काला

सुनंदा पुष्कर की मौत की सीबीआई जांच से सब से ज्यादा कौन परेशान है, जवाब साफ है सिर्फ शशि थरूर. इस हाईप्रोफाइल असामान्य मौत को सामान्य मानने को आम आदमी कतई तैयार नहीं था पर तत्कालीन यूपीए सरकार ने बड़ी सादगी से इसे सामान्य करार दे दिया था. अब पुरानी बातें नए अंदाज में सामने आ रही हैं. आईपीएल के सट्टे की बात हो या पाकिस्तानी पत्रकार मेहर तरार से शशि थरूर के प्रेमप्रसंग की, तमाम राज खुलेंगे और दिक्कत पूर्व विदेश मंत्री को होगी जो बीते दिनों अकसर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ में कसीदे गढ़ते रहे. लोगों का माथा तो तभी ठनका था कि दाल में जरूर कुछ काला है जिसे अब सीबीआई खंगालेगी.