मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह इन दिनों काफी परेशान हैं. राज्य में कुछ भी ठीकठाक नहीं है. रोज व्यापमं घोटाले को ले कर बवंडर मचा रहता है. अब कोई उन की कल्याणकारी योजनाओं पर तवज्जुह नहीं देता. नई दिक्कत व्यापमं घोटाले में उन का नाम भी आ जाना है और ‘शानदार’ तरीके से आना है जिसे ले कर वे सफाई भी दे रहे हैं और धौंस भी कि कांग्रेसियों पर मानहानि का दावा करूंगा. आम लोग अब उन की बातों पर पहले सा भरोसा नहीं कर रहे, यह और भी ज्यादा दुख की बात है. दावों से दाग नहीं धुलते बल्कि और फैलते हैं, यह भी शिवराज जानते हैं. वे असहाय से हो चले हैं जो शुभ या सुखद कतई नहीं.

Tags:
COMMENT