अब लोन लेना हुआ और भी आसान. अब आपको लोन लेने के लिये यहां वहां जाने की कोई जरुरत नहीं. अब आप अपने मोबाईल के जरिए लोन प्राप्त कर सकते हैं. स्टार्टअप कंपनी मनीटैप ने मोबाइल एप के जरिये पांच लाख रुपये तक का कर्ज दिलाने की सुविधा शुरू की है.

इस साल के आखिर तक कंपनी कुल मिलाकर 300 करोड़ रुपये का कर्ज उपलब्ध कराने का लक्ष्य लेकर आगे बढ़ रही है. कंपनी के सह संस्थापक अनुज ककर ने बताया कि कंपनी इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए छोटे शहरों पर ज्यादा ध्यान दे रही है. यही वजह है कि मनीटैप का एप हिंदी और कन्नड़ भाषा में भी उपलब्ध होगा. जल्द ही यह तेलुगु, तमिल, मराठी और गुजराती में भी आएगा.

उन्होंने कहा कि कंपनी फिलहाल 14 शहरों में सेवा दे रही है और इस साल के आखिर तक 50 शहरों में उसकी सेवाएं उपलब्ध होंगी. मनीटैप मोबाइल एप के जरिए ग्राहक को तुरंत, कुछ ही मिनट में ऋण राशि मंजूर हो जाती है जिसे वह तीन साल तक अपनी सुविधा के अनुसार इस्तेमाल कर सकता है. कंपनी ने इस सुविधा के लिए सिविल और बैंकों से गठजोड़ किया है.

ककर ने कहा कि यह अपनी तरह की पहला व अनूठा स्टार्टअप है जो किसी भी व्यक्ति को बैंक से पांच लाख रुपये तक का कर्ज सिर्फ एप के जरिए कुछ ही मिनट में सुनिश्चित करवाता है. इसमें किसी तरह की रहन/जमानत की जरूरत नहीं. मनीटैप का फिलहाल ऋण सुविधा के लिए आरबीएल बैंक के साथ गठजोड़ है. कई और बैंकों व वित्तीय सेवाओं से उसकी बातचीत चल रही है जिसे जल्द ही अमली जामा पहनाया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि कंपनी 20,000 रुपये से अधिक मासिक आय वाले वेतनभोगी व स्वरोजगार संपन्न युवाओं को 3,000 रुपये से पांच लाख रुपये तक का ऋण उपलब्ध करवाती है. आवेदक की मंजूर ऋण राशि उसके मनीटैप में आ जाती है जिसे वह जब चाहे अपने खाते में स्थानांतरित कर सकता है. इसमें ग्राहक को ब्याज केवल उसी राशि का देना होता है जिसका वह इस्तेमाल करता है. इसके अलावा कंपनी का आरबीएल बैंक के साथ को ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड भी है.

ककर ने कहा कि बेंगलुरू स्थित मनीटैप ने हाल ही में सेवा इंडिया, एनईए तथा प्राइम वेंचर पार्टनर्स से 1.23 करोड डालर की राशि जुटाई है जिसका इस्तेमाल वह अपनी सेवाओं व परिचालन के विस्तार के लिए करेगी.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं