वि‍देश यात्रा पर जाने से पहले लोग काफी तैयारियां करते हैं.यह समय कितना भी रोमांचक क्यों न हो, पर्यटकों को अपनी विदेश की यात्रा की योजना बनाते समय पहले से अधिक सावधान रहने और यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है. विदेश में परेशानी से बचने के लिए एक अच्छा ट्रेवल इंश्योरेंस आपकी सूची का एक अ‍हम हिस्सा होना चाहिए. ट्रेवल इंश्‍योरेंस को नजर अंदाज ना करे, यह एक अतिरिक्‍त खर्च नहीं बल्‍क‍ि आपकी विदेश की यात्रा के लिए बहुत जरूरी है.

मेडिकल इमरजेंसी

आप अपनी यात्रा के दौरान कम से कम किसी गंभीर परेशानी के कारण उसके इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती होने के खर्च के अलावा अन्य मेडिकल खर्च को आप अक्सर अपनी यात्रा सूची में शामिल नहीं करते होंगे. लेकिन अगर ऐसा होता है और आपने इंश्योरेंस लिया है तो इंश्योरेंस कंपनी इंश्योरेंस की रकम तक इस तरह के खर्च उठा लेगी. कुछ वीजा जैसे शेनजेन के लिए आपको एक मेडिकल इंश्योरेंस लेना जरूरी है. मेडिकल इमरजेंसी इसलिए भी जरूरी हैं क्योंकि विदेश में मेडिकल खर्च लाखों रुपये तक पहुंच सकता है.

ट्रांसपोर्ट संबंधी संकट

यात्रा के दौरान के लिए इंश्योरेंस लेने का शायद सबसे महत्‍वपूर्ण कारण ट्रांसपोर्ट संबंधी संकट है. कम लागत वाली फ्लाइटों और हमेशा जाम रहने वाली एयर ट्रैफिक अनुसूचियों के कारण, कैंसलेशन और देरी एक आम घटना बन गई है. इस तरह के संकट के लिए मुआवजा पाने के लिए, एक ऐसा ट्रेवल इंश्योरेंस लेना जरूरी है जो इस तरह के खर्च को कवर करता हो. हम आपको बता दें कि जबकि अधिकांश प्लान सिर्फ फ्लाइटों के लिए भुगतान करते हैं, लेकिन कुछ प्लान ऐसे भी हैं जो ट्रेन और फेरी संबंधी देरी और कैंसलेशन को भी कवर करती है.

किसी तरह का सामान गुम जाएं तो

यदि आपका पासपोर्ट गुम हो जाय तो आपको विदेश में जारी किया गया एक डुप्लीकेट पासपोर्ट हासिल करना पड़ेगा और उस देश की मुद्रा में उसके लिए भुगतान भी करना पड़ेगा. आपके इंश्योरेंस द्वारा कवर किए जाने पर, इस तरह के खर्च को आपकी इंश्योरेंस कंपनी संभाल लेगी. इसके अलावा, यदि आपका सामान गुम हो जाता है या मिलने में देरी होती है और आपके पास एक भी कपड़ा नहीं है तो कुछ प्लान में आपको काफी मदद किया जाता है और यदि यह स्थायी रूप से गुम हो जाता है तो आपको एक निश्चित राशि तक इसका मुआवजा भी दिया जाएंगा.

इमरजेंसी के दौरान

दूरदराज के स्थानों से गंभीर मेडिकल सहायता या प्राकृतिक आपदाओं के दौरान निकासी के मामले में इमरजेंसी निकासी काफी महंगा साबित हो सकता है. बता दें कि कुछ प्लान, राजनीतिक अस्थिरता के दौरान निकासी को भी कवर करते हैं लेकिन युद्ध या आतंकवाद के परिणामस्वरूप कोई दुर्घटना होने पर उसे कवर नहीं किया जाएगा.

इन बातों पर ध्‍यान दें

इंश्‍योरेंस कंपनी का चयन करते समय कुछ बातों का ध्‍यान देना बाकई बहुत जरूरी है.

सिर्फ पौलिसी लेने वाले व्यक्ति को ही कवर किया जाएगा. तो बता दें यदि आप अपने परिवार के साथ यात्रा कर रहे हैं तो आपको अपने परिवार के प्रत्येक सदस्य के लिए इंश्योरेंस लेना अनिवार्य है.

हमेशा इस बात की जांच कर लें कि किन-किन एयरलाइनों और ट्रेनों को इंश्योरेंस कंपनी के कवरेज से बाहर रखा गया है.

वहीं इस बात से भी अवगत करा दें कि ट्रेवल इंश्योरेंस किसी भी देश के लिए किसी ऐसे प्रकार के खर्च को भी कवर नहीं करेगा जिसे सरकार द्वारा एक नो विजिट जोन या डेंजर जोन घोषित किया गया है.

इंश्योरेंस कंपनियां संभवतः ऐसे देशों के लिए इंश्योरेंस के लिए आवेदन को अस्वीकार कर देंगी.

मेडिकल और निकासी का खर्च, कैशलेश तरीके से प्राप्त नहीं हो सकता है. इसके प्रतिपूर्ति तब की जाएगी जब आप अपने देश वापस लौटने के बाद संबंधित बिल दिखाएंगे.