एसबीआई ने एक बार फिर से अपने ग्राहकों को चेतावनी दी और कहा, अगर आपने ये गलतियां की तो आपके अकाउंट से पैसे गायब हो सकते हैं. आपको बता दें कि पिछले दिनों औनलाइन बैंक फ्रौड की बढ़ती वारदातों के बाद एसबीआई की तरफ से अपने ग्राहकों को जागरूक किया गया है.

हाल ही में हैकर्स ने डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड का डाटा हैक कर कौसमौस बैंक से 90 करोड़ रुपये गायब कर दिए. ऐसे में आपको और भी ज्यादा सचेत रहने की जरूरत है. इस सभी को ध्यान में रखते हुए एसबीआई ने अपने ग्राहकों के लिए एडवाइजरी जारी की है. देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक ने अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से अपने ग्राहकों को जानकारी दी है. ग्राहकों को यह जानकारी देने के पीछे बैंक का मकसद ग्राहकों को किसी भी प्रकार के औनलाइन फ्रौड से बचाना है.

इन 5 बातों का रखें ध्यान

– एसबीआई की तरफ से कहा गया है कि बैंक आपकी गोपनीय जानकारी जैसे यूजर आई डी, पिन, पासवर्ड, सीवीवी, ओटीपी, वीपीए आदि कभी नहीं पूछता. यदि आपसे कोई इस बारे में जानकारी मांगता है तो उसे कभी नहीं बताएं.

– आप कभी भी औनलाइन ट्रांजेक्शन पब्लिक प्लेस जैसे रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड या भीड़भाड़ वाली जगह पर नहीं करें. साथ ही यह भी ध्यान रखें कि कभी भी औनलाइन ट्रांजेक्शन करने के लिए फ्री वाई-फाई का प्रयोग न करें. ऐसा करने से आपकी गोपनीय जानकारी लीक हो सकती है.

– एसबीआई खाताधारकों को कभी भी अपने बैंक अकाउंट की डिटेल अपने मोबाइल में सेव करके नहीं रखनी चाहिए. न ही ऐसी डिटेल को किसी पेपर आदि पर लिखकर फोटो के माध्यम से फोन में रखना चाहिए. बैंक के खो जाने की स्थिति में कोई भी इसका दुरुपयोग कर सकता है.

– एसबीआई ग्राहकों को कभी भी अपना एटीएम या क्रेडिट कार्ड दूसरे व्यक्ति को नहीं देना चाहिए. यदि आपने किसी दुकान पर शापिंग की है तो अपनी आंखों के सामने ही भुगतान करने के लिए कार्ड को स्वैप कराए. अगर आप इसे अपने सामने स्वैप नहीं कराते हैं तो इसे हैक किया जा सकता है या इसका क्लोन तैयार किया जा सकता है.

– एसबीआई खाताधारकों को अपने बैंकिंग ट्रांजेक्शन से जुड़ी जानकारी सोशल मीडिया पर शेयर नहीं करनी चाहिए. कभी भी ऐसा करने पर आप आसानी से हैकर्स के निशाने पर आ सकते हैं.