सरिता विशेष

दुनिया के सब से अमीर लोगों में शुमार ‘वारेन बफे’ को कौन नहीं जानता? वे न केवल शेयर मार्केट के बादशाह हैं बल्कि दुनिया के सब से बड़े दानी भी हैं. उन्होंने जीवन में कमाई हुई अधिकतर संपत्ति दान कर दी है. बचपन से ही उन्हें पैसे कमाने की इतनी ललक थी कि वे साइकिल से रोज सुबह अखबार बेचने जाते थे. जब वे केवल 15 वर्ष के थे तब वे अखबार बांट कर 175 डौलर हर महीने कमाते थे और उन पैसों को निवेश में लगा देते थे. इस प्रकार कालेज की पढ़ाई पूरी होने से पहले उन्होंने 90 हजार डौलर कमा लिए थे. इस के बाद उन्होंने अपना मल्टी बिलियन डौलर का साम्राज्य खड़ा किया था.

ठीक इसी तरह क्या आप सोच सकते हैं कि बचपन में दूध बेचने वाला और होटल में वेटर का काम करने वाला व्यक्ति लाखों लोगों को नौकरी पर रख सकता है, किसी इंडस्ट्री को पूरी तरह बदल सकता है. वह दुनिया की सब से बड़ी कंपनी बना सकता है और खुद बन सकता है अमेरिका का रिचैस्ट मैन. यहां हम बात कर रहे हैं दुनिया की सब से बड़ी रिटेल कंपनी ‘वालमार्ट’ के संस्थापक सैम वेल्टन की, जिन्हें मौडर्न रिटेल का जनक भी कहा जाता है. वे 1982 से 1988 तक अमेरिका के सब से अमीर व्यक्ति थे. आज भी वालमार्ट हमेशा टौप 10 कंपनीज में रहती है और अरबों डौलर का व्यापार करती है. यह सब संभव हुआ सैम वेल्टन के मजबूत इरादों और पैसा कमाने की ललक की वजह से.

इसलिए किशोरों को चाहिए कि ऐसे प्रेरक व्यक्तियों से सीख लें व पैसे को दांत से पकड़ें यानी पैसा कमाने का कोई भी अवसर हाथ से न जाने दें. आइए जानें कैसे :

कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीं होता

किशोरों को लगता है कि हमें जौब हमारी ऐजुकेशन के अनुसार ही मिलनी चाहिए. वैसे देखा जाए तो यह सोच गलत भी नहीं है, लेकिन अगर आप के सामने कोई ऐसा औफर है जो आप के स्टेटस का नहीं है, बस,कामचलाऊ है तो अपनी ईगो में आ कर उसे इनकार न करें बल्कि उस औफर को स्वीकार करें और साथ में अच्छी नौकरी भी तलाश करते रहें. इस से आप किसी न किसी काम पर तो लगे ही रहेंगे और हो सकता है आगे चल कर आप को आप की मनपसंद नौकरी भी मिल जाए. छोटा काम कर के ऐक्सपीरियंस ले कर ही आप बड़े काम कर पाएंगे.

पार्टटाइम काम करें

अगर आप को पार्टटाइम ट्यूशन पढ़ाने या फिर इसी तरह का कुछ घंटे के लिए कोई काम मिल रहा है तो उस काम को कर लें, क्योंकि पढ़ाई के साथसाथ इस तरह का पार्टटाइम काम करने से पैसे कमाने के साथसाथ आप का अनुभव और कौन्फिडैंस भी बढ़ेगा.

लाइन से हट कर जौब हो तो भी करें

किशोरों को लगता है कि हम ने जिस फील्ड की पढ़ाई की है उसी में जौब चाहिए जैसे कंप्यूटर साइंस से पढ़ाई की है तो उसी में जौब चाहिए, लेकिन कई बार तमाम कोशिशों के बाद भी उस फील्ड में जौब नहीं मिल पाती. ऐसे में घर में बेकार बैठे रहना मूर्खता है बल्कि इस के विपरीत यदि किसी और फील्ड में जैसे एचआर वगैरा में कोई अच्छी जौब मिल रही है तो उसे कर लें, क्या पता यहीं से आप के लिए आगे का रास्ता खुल जाए.

अगर आप बेकार बैठे रहेंगे तो आगे इंटरव्यू में आप से यह सवाल भी किया जा सकता है कि कोर्स पूरा होने के बाद 6 महीने तक आप ने क्या किया. तब कम से कम यह तो कह सकते हैं कि मैं ने यह जौब की है.

कौल सैंटर बुरा औप्शन नहीं

कई लोगों को लगता है कि कौल सैंटर की जौब भी भला कोई जौब है, लेकिन सच है कि किशोरों के लिए कौल सैंटर की जौब भी शुरुआत करने के लिए बुरी नहीं है. यहां सैलरी भी ठीकठाक मिलती है और आनेजाने की सुविधा भी. अगर बात अच्छी नौकरी की है तो दिन में इंटरव्यू के लिए भी आराम से जा सकते हैं.

सही समय के इंतजार में बैठे न रहें

अभी तो मैं पढ़ रहा हूं. अभी मेरी उम्र ही क्या है, अभी तो पापा पौकेटमनी दे ही देते हैं. अगर आप भी इन्हीं जुमलों पर यकीन कर आगे बढ़ रहे हैं तो यह अच्छी बात नहीं है. पैसा कमाने की कोई उम्र नहीं होती, वह तो कभी भी कमाना शुरू किया जा सकता है. बस, आप में काबिलीयत होनी चाहिए. कब तक पापा से पौकेटमनी लेते रहेंगे, अपनी राह खुद बनाइए. यह जरूरी नहीं कि कालेज के बाद ही नौकरी का सही वक्त आएगा. पैसा कमाने का सही वक्त वही होगा जब आप कमाना शुरू कर देंगे बल्कि जितना जल्दी कमाना शुरू करेंगे उतना ही जल्दी लाइफ में सैटल भी होंगे.                                              

इन बातों पर भी ध्यान दें

– मौका बारबार नहीं मिलता. अगर आप के पास पैसा कमाने का कोई अच्छा जरिया है तो उसे यों ही हाथ से न जाने दें बल्कि पूरी तन्मयता के साथ उसे पकड़ें और पैसा कमाने में जुट जाएं, क्योंकि जो सुविधा और अवसर आप को आज मिला है जरूरी नहीं कि वह कल भी मिले.

– घर पर खाली बैठना ठीक नहीं है. इस से कुछ हासिल नहीं होगा, कहीं काम करेंगे तो चार पैसे ही हाथ में आएंगे.

– पैसे भले ही कम हों, लेकिन ऐक्पीरियंस तो अच्छा मिल रहा है न.

– नौकरी नहीं होगी तो लोग भी बातें बनाएंगे कि देखो अभी तक खाली है. लोग आप की काबिलीयत पर भी सवाल उठाने लगेंगे कि इस में ही कोई कमी होगी तभी नौकरी नहीं मिली. ये बातें जाहिर है आप को भी अच्छी नहीं लगेंगी.

– पैसा कमा कर लाएंगे तो घर में छोटे भाईबहन और मातापिता भी आप को जिम्मेदार समझने लगेंगे और सब की नजरों में आप की इज्जत बढ़ जाएगी.

– खाली बैठ कर सोचते रहना और समय बरबाद करने से कुछ हासिल नहीं होगा इसलिए समय का सदुपयोग करें.

– इस का मतलब यह नहीं है कि पैसा कमाने के लिए गलत रास्ता अख्तियार कर लें. पैसा कमाएं जरूर लेकिन सही रास्ता अपनाएं.

– पैसा कमाने के चक्कर में अपनी पढ़ाई को डिस्टर्ब न करें. पढ़ाई और जौब में ऐडजस्टमैंट बैठाएं.

अवसर पैदा करें

– अखबारों में आने वाली नौकरियों पर नजर रखें. आएदिन अखबारों में नौकरियों से संबंधित विज्ञापन छपते रहते हैं, उन पर ध्यान दें.

–  अपने दोस्तों व रिश्तेदारों से कहें कि वे नौकरी ढूंढ़ने में आप की मदद करें.

– नौकरी डौट कौम आदि कई ऐसी साइट्स हैं, जिन पर अपना रिज्यूमे भेज कर आप नौकरी के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

– कुछ अच्छी कंपनियों के पते निकाल कर पर्सनली रिज्यूमे दे कर आएं तथा उन के संपर्क में रहें.

– जहां मौका मिले वहां फ्रीलांसिंग का काम शुरू करें, हो सकता है काम पसंद आने पर आप को फुलटाइम भी कर दिया जाए.

– कालेज प्लेसमैंट में बढ़चढ़ कर पूरी तैयारी के साथ हिस्सा लें और अच्छा प्रदर्शन कर नौकरी पाए.