सरिता विशेष

चीन से 1 करोड़ रुपए का कोरियन डोसा भारत लाया गया. सुन कर आप को लग रहा होगा कि भला ऐसा भी क्या खास है इस कोरियन डोसा में जो 1 करोड़ का है. तो आप को बता दें कि यह खाने वाला डोसा नहीं, बल्कि कोरियन डोसा मस्टिफ नस्ल का कुत्ता है, जिस की कीमत औडी S6 और अच्छे खासे स्पेस वाले विला से भी ज्यादा है.

इस नस्ल के कुत्ते की खासियत इस की लटकी हुई बौडी और बड़ीबड़ी आंखें हैं. सूंघने की क्षमता भी बहुत जबरदस्त होती है. उम्र भले ही 7 से 12 वर्ष के बीच हो, लेकिन यह इतना वफादार व स्वभाव से इतना शांत होता है कि हर किसी को इस से प्यार हो जाए. इस के चेहरे की मासूमियत पर हर कोई फिदा हो जाता है. अगर आप को वोडाफोन के ऐड में आने वाला कुत्ता देखा होगा तो आप को यह कोरियन डोसा बिलकुल उस से मिलताजुलता लगेगा.

सतीश एस इस नस्ल के कुत्ते को भारत लाने वाले पहले व्यक्ति हैं. वे बेंगलुरु  में इंडियन डौग ब्रीडर एसोसिएशन के प्रधान हैं. इस समय उन के पास 150 से अधिक एक से बढ़ कर एक नस्ल के कुत्ते हैं. जिन्हें वे कुमबलगोदु स्थित अपने फार्म हाउस पर रखते हैं. उन्हें इस नस्ल के कुत्ते की पिछले 20 वर्षों से तलाश थी जो आज उन के कठिन प्रयासों के कारण पूरी हुई. उन की खुशी का ठिकाना उन के चेहरे को देख कर साफ लगाया जा सकता है.