सरिता विशेष

सरकार जनता की शिकायतों को दूर करने के लिए डिजिटल सेवा को और ज्यादा सरल तथा प्रभावी बना रही है. उपभोक्ता को अब तक रेल मंत्रालय के अलावा विदेश मंत्रालय से संबंधित शिकायतें ट्वीट कर के दर्ज करने की सुविधा थी और इस में बड़ी संख्या में शिकायतें मिल रही हैं और इन का निस्तारण भी हो रहा है. अब टैलिकौम क्षेत्र के उपभोक्ताओं के लिए भी ट्वीट कर के शिकायत दर्ज करने की सुविधा दूरसंचार मंत्रालय ने शुरू कर दी है.

उपभोक्ता दूरसंचार मंत्रालय के ट्विटर हैंडल पर सरकारी और निजी क्षेत्र के मोबाइल सेवाप्रदाताओं के साथ ही डाक विभाग से जुड़ी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं. मंत्रालय ने इन शिकायतों को तत्काल दूर करने के लिए जरूरी निर्देश जारी कर दिए हैं. देश में करीब एक अरब उपभोक्ता मोबाइल फोन सेवा का इस्तेमाल कर रहे हैं और लगभग हर हाथ में मोबाइल फोन है. ग्राहक सार्वजनिक स्थलों पर शिकायत केंद्र के प्रतिनिधि से अकसर उलझते दिखाई देते हैं. उन में अधिक पैसे काटने और अवांछित सेवा बिना मांगे शुरू करने से जुड़ी ज्यादा शिकायतें होती हैं. कंपनियां बेवजह का शुल्क लगा कर उपभोक्ता को लूटती हैं. साधारण उपभोक्ता की इस शिकायत का निराकरण नहीं होता है. परेशान उपभोक्ता पोर्टेबिलिटी सुविधा लेने को विवश होता है लेकिन वहां भी उसे इसी तरह की शिकायत का सामना करना पड़ता है. कई उपभोक्ता सेवाकेंद्र कंप्यूटरीकृत हैं और वहां उपभोक्ता के लिए प्रतिनिधि से बात करने का विकल्प नहीं होता है. अब उपभोक्ता ट्वीट कर के अपनी शिकायत दर्ज करा सकता है और उस की शिकायत का समय पर उत्तर मिल सकेगा. लेकिन जो कंपनियां लगातार अवैध काम कर रही हैं, उन पर लगाम कसी जानी चाहिए.