सरिता विशेष

बैंकों द्वारा लगातार आधार कार्ड को खातों से जोड़ने की सूचनाएं दी जा रही है. बैंक खातों से आधार कार्ड को जोड़ना आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है क्योंकि अब बैंक अकाउंट में धन स्थानांतरण करने का काम आपका आधार नंबर करेगा. जी हां, यह बिल्कुल सच है. एक खबर मुताबिक अकाउंट में पैसे स्थानांतरण करने के लिए अब आपको किसी को बैंक खाता संख्या और भारतीय वित्तीय तंत्र कोड (आईएफएससी) देने की जरूरत नहीं पड़ेगी. इसके लिए आधार नंबर ही काफी होगा क्योंकि आधार नंबर ही देकर ही किसी के खाते में धन स्थानांतरित हो जाएगा. कई बैंकों ने यह सेवा शुरू भी कर दी है. यह सेवा लेने के लिए बैंक खाते में आधार लिंक होना जरूरी है. डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए आधार के जरिए धन स्थानांतरण सेवा को नि:शुल्क रखा है.

कैसे करें आधार नंबर से अकाउंट में पैसे स्थांतरित

आधार नंबर के जरिए धन स्थानांतरण की सुविधा बैंकों के यूपीआई ऐप के जरिए ली जा सकती है. इस व्यवस्था में सिर्फ आधार नंबर और कितना धन स्थानांतरित करना है यह जानकारी ऐप में डालनी है. ऐप में यूपीआई के जरिए भुगतान मोड में जाएं. जिसको पैसा भेजना है उसके खाते के स्थान पर आधार नंबर डालें. राशि भरकर धन स्थनांतरण की अनुमति दें. इसके जरिए महज पांच से छह सेकेंड में आपका पैसा लेनदार के खाते में पहुंच जाएगा. इसके बाद आपके मोबाइल पर मैसेज आ जाएगा कि अमुक राशि इस खाते में स्धानांतरित कर दी गई है.

आप यूपीआई ऐप अलावा भीम और यूएसएसडी से भी यह सेवाएं नि:शुल्क ले सकते हैं. इनमें धन स्थानांतरण और भुगतान की सीमा अधिकतम 50 हजार रुपये रखी गई है.

कई बैंक खाते हैं तो इस खाते में पहुंच जाएंगे पैसे

अब सवाल उठता है कि अगर किसी व्यक्ति के कई बैंक खाते हैं तो राशि किस खाते में जाएगी. तो बैंको के मुताबिक भेजी गई राशि उस व्यक्ति के प्राथमिक खाते में जाएगी. प्राथमिक खाता वह माना जाएगा जहां सबसे बाद में आधार नंबर लिंक करवाया गया है.

ऐसे जानें किस खाते में आधार नंबर के जरिए धन गया है

यह जानने के लिए कि किस खाते में आधार नंबर के जरिए धन गया है एक यूएसएसडी कोड जारी किया गया है. *99*99*1# डायल करने पर आधार नंबर पूछा जाएगा. आधार नंबर डालते ही यह जानकारी आ जाएगी कि किस बैंक में धन गया है. पर बैंक खाते की पूरी जानकारी नहीं मिलेगी.

कई झंझटों से मुक्ति मिलेगी

आधार नंबर के जरिए बैंक खाते में धन स्थानांतरण से लोगों को कई झंझटों से मुक्ति मिलेगी. इसमें बैंक खाता, आईएफएससी कोड देने के साथ डिजिटल तरीके से भुगतान में बैंक खाते के पंजीकरण में लगने वाला 24 घंटे का समय भी शामिल है.

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं