ई-कौमर्स सेगमेंट में भारत की सबसे बड़ी औनलाइन शौपिंग कंपनी फ्लिपकार्ट बिक सकती है. कड़ी प्रतिस्पर्धा का सामना कर रही फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए दो बड़ी कंपनियों ने औफर करने का मन भी बना लिया है. एक खबर के मुताबिक, फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए अमेरिकी कंपनी अमेजोन ने दिलचस्पी दिखाई है. अमेजोन जल्द ही इसके लिए औफर कर सकती है. उधर, दुनिया की सबसे बड़ी रिटेल कंपनी वौलमार्ट भी इस रेस में नजर आ रहा है.

बड़ी हिस्सेदारी खरीदना चाहती है वौलमार्ट

फ्लिपकार्ट को खरीदने में जहां अमेजोन औफर करने का मन बना रही है. वहीं, वौलमार्ट कंपनी में बड़ी हिस्सेदारी खरीदना चाहती है. सूत्रों की माने तो वौलमार्ट 40 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए फ्लिपकार्ट से बातचीत कर रही है.

business

अमेजोन ने खारिज की डील की खबर

फ्लिपकार्ट में हिस्सेदारी या उसे खरीदने की खबरों को अमेजोन ने खारिज किया है. उसके मुताबिक ऐसी किसी डील की संभावना नहीं है. उधर, फ्लिपकार्ट ने भी इस खबर पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. वहीं, मीडिया में ऐसी खबरें है कि वौलमार्ट की फ्लिपकार्ट के साथ 40 फीसदी हिस्सेदारी खरीदने के लिए बातचीत हो रही है.

अमेजोन और वौलमार्ट में रेस

फ्लिपकार्ट को खरीदने के लिए अमेजोन का औफर और वौलमार्ट की हिस्सेदारी में दिलचस्पी इस बात को साफ दिखाती है कि दोनों दिग्गजों का मुकाबला जबरदस्त है. सूत्रों के मुताबिक, वौलमार्ट प्राइमरी और सेकेंडरी शेयर खरीद के फ्लिपकार्ट में बड़ी हिस्सेदारी चाहती है.

business

21 अरब डौलर की फ्लिपकार्ट

खबरों के मुतबाकि, फ्लिपकार्ट की कुल वैल्यू इस वक्त 21 अरब डौलर के आसपास आंकी गई है. वौलमार्ट के साथ डील होने से फ्लिपकार्ट और बड़ी कंपनी होगी. ऐसे में उसे अपने प्रतिद्वंदी अमेजोन से मुकाबले करने में मदद मिलेगी. इंडियन ई-कौमर्स बाजार में अमेजोन और फ्लिपकार्ट में हमेशा से टक्कर रही है.

अमेजोन की भारतीय बाजार पर नजर

अमेजोन की भारतीय बाजार पर नजर काफी पहले से है. वह अपने एक्सपेंशन प्लान को लेकर भी गंभीर है. उसने भारतीय बाजार में करीब 5 अरब डौलर के निवेश की योजना भी बना रखी है. ऐसे में अगर फ्लिपकार्ट के साथ डील होती है तो उसका करीब 70 फीसदी भारतीय बाजार पर कब्जा होगा. अभी फ्लिपकार्ट की भारतीय औनलाइन मार्केट में 40 फीसदी हिस्सेदारी है.

Tags: