सरिता विशेष

ब्रिटेन की कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के चुनाव में सांठगांठ करने के आरोप में घिरे सोशल नैटवर्किंग साइट फेसबुक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और संस्थापक मार्क जुकरबर्ग फोर्ब्स अरबपतियों की सूची से फिसल कर 7वें स्थान पर पहुंच गए हैं. और 2 सप्ताह के भीतर उन को 10 अरब डौलर का नुकसान हुआ है.

फेसबुक पर आरोप है कि उस ने अपने 5 करोड़ यूजर्स के डाटा अवैध रूप से चुनाव को प्रभावित करने की इजाजत दी. उस ने यह डाटा विश्लेषक कंपनी के साथ साझा कर यूजर्स के साथ धोखा किया है.  इस से फेसबुक की छवि खराब हुई है और उसे विज्ञापन मिलने कम हुए हैं.

कैंब्रिज एनालिटिका ने डाटा का इस्तेमाल चुनावी फायदा पहुंचाने के लिए किया था. फेसबुक उस की इस करतूत में शामिल रहा है. यह खुलासा होने के बाद फेसबुक के सीईओ सीधे आलोचकों के निशाने पर आ गए.

पूरी दुनिया में फेसबुक को कैंब्रिज एनालिटिक से सांठगांठ के कारण भारी बदनामी भी झेलनी पड़ी. इधर, भारत के राजनीतिक दल भाजपा और कांग्रेस कैंब्रिज एनालिटिका पर एकदूसरे को मदद करने का आरोप लगा रहे हैं. कांग्रेस ने इस के लिए सभी तथ्य पत्रकारों को उपलब्ध कराए जबकि भाजपा ने चुनाव में मदद पर फेसबुक को कड़ी हिदायत दी है.

VIDEO : रेड वेलवेट नेल आर्ट

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.