सरिता विशेष

ICICI बैंक-वीडियोकौन डील को लेकर सवालों के घेरे में आई बैंक की सीएमडी चंदा कोचर ने अपना नाम FICCI लेडीज और्गेनाइजेशन (FLO) के सालाना कार्यक्रम से वापस ले लिया है. 5 अप्रैल को होने वाले इस कार्यक्रम में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद चंदा कोचर को सम्मानित करने वाले थे. इस कार्यक्रम में गेस्ट औफ औनर के रूप में चंदा कोचर को शामिल होना था. पिछले महीने भेजी गई कार्यक्रम की सूची में उनका नाम शामिल था. लेकिन, संशोधित सूची में चंदा कोचर का नाम शामिल नहीं किया गया है.

क्यों हटा चंदा कोचर का नाम?

FLO की एग्जिक्युटिव डायरेक्टर रश्मि सरिता ने कहा, ‘वह गेस्ट औफ औनर थीं, लेकिन अब वह कार्यक्रम में नहीं आ रही हैं.’ हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि कोचर का नाम क्यों हटाया गया है. सरिता ने कहा, ‘ हां, उन्हें सम्मानित किया जाना था और वह गेस्ट औफ औनर भी थीं. ‘ FLO इंडस्ट्री एसोसिएशन, फेडरेशन औफ इंडियन चैंबर्स औफ कौमर्स एंड इंडस्ट्री महिलाओं का बिजनेस विंग है.

वीडियोकौन डील की जांच शुरू

आपको बता दें, आईसीआईसीआई बैंक और वीडियोकौन लोन मामले की जांच शुरू हो गई है. सीबीआई ने 2012 में आईसीआईसीआई बैंक द्वारा वीडियोकौन कंपनी को दिए गए 3250 करोड़ रुपए के लोन मामले में प्रारंभिक जांच शुरू की है और इसमें चंदा कोचर के पति दीपक कोचर की भूमिका की भी जांच की जा रही है.

business

आयकर विभाग ने भी भेजा नोटिस

3250 करोड़ रुपए के लोन मामले में आईसीआईसीआई बैंक की सीईओ और प्रबंध निदेशक चंदा कोचर के पति दीपक कोचर को आयकर विभाग (IT) ने भी नोटिस जारी किया है. आयकर विभाग ने विडियोकौन लोन मामले में कर चोरी की जांच करते हुए दीपक कोचर को नोटिस जारी किया है. कोचर को नोटिस भेजे जाने की जानकारी संबंधित अधिकारियों ने दी. अधिकारियों ने बताया कि दीपक कोचर को आयकर अधिनियम की धारा 131 के तहत नोटिस जारी किया गया है.

क्या है मामला?

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, वीडियोकौन के चेयरमैन वेणुगोपाल धूत ने आईसीआईसीआई सहित कई बैंकों से लोन मिलने के बाद दीपक कोचर की कंपनी न्यूपावर रीन्यूएबल्स में 64 करोड़ रुपए का निवेश किया था. हालांकि, आईसीआईसीआई बैंक ने इसमें किसी तरह की गड़बड़ी से इनकार किया है.

VIDEO : कार्टून लिटिल टेडी बियर नेल आर्ट

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.