वियतनाम की VietJet एयरलाइन अपने नाम से ज्यादा ‘बिकिनी एयरलाइन’ के नाम से जानी जाती है. ये एयरलाइन जल्द ही अपनी सेवा भारत से शुरू करने जा रही है. एयरलाइन ने ऐलान किया है कि उनकी फ्लाइट्स नई दिल्ली से वियतनाम के Chi Minh City तक शुरू होगी. इस सेवा की इसी साल जुलाई या अगस्त के बीच शुरू होने की उम्मीद है. इसकी फ्लाइट्स नई दिल्ली से हफ्ते में 4 दिन उड़ान भरेगी. आपको बता दें कि ये एयरलाइन सेक्सीएस्ट मार्केटिंग तिकड़म के लिए जानी जाती है. इसे वुमन एंटरप्रेन्योर Nguyen Thi Phuong Thao चलाती हैं.

किसने चुना एयरलाइन का ड्रेस कोड

एयरलाइन की एयरहोस्टेस का ड्रेस कोड CEO ‘Nguyen Thi Phuong Thao’ ने चुना है. बता दें कि वे वियतनाम की पहली बिलियन एयर महिला हैं. हाल ही में ये एयरलाइन फुटबौल टीम के वेलकम में एयरहोस्टेस को Lingerie पहनाने के लिए चर्चा में रही थी.

विवादित एयरलाइन में से एक

एयरलाइन दुनिया की सबसे विवादास्पद एयरलाइनों में से एक है. क्योंकि, कुछ देश बिकनी होस्टेस की अवधारणा के खिलाफ हैं और विशेषज्ञों का मानना है कि भारत में इसका संचालन निश्चित रूप से हंगामा खड़ा कर देगा.

business

VietJet वियतनाम की पहली प्राइवेट एयरलाइन

आपको बता दें, VietJet वियतनाम से औपरेट होने वाली पहली प्राइवेट एयरलाइन है. 2017 में कपंनी ने 1.7 करोड़ यात्रियों को सफर कराया था. इससे एयरलाइन को कुल 986 मिलियन डौलर यानी 64 अरब रुपए से ज्यादा की आय हुई थी. जो कि 2016 के मुकाबले 41.8 फीसदी ज्यादा थी.

60 रूट्स पर है औपरेशंस

ताजा आंकड़ों के मुताबिक, VietJet के विमान अभी घरेलू और विदेश में करीब 60 रूट पर औपरेट होता है. 2023 तक कंपनी का लक्ष्य 200 एयरक्राफ्ट अपने बड़े में शामिल करने का है. एयरलाइंस ने अपनी पहले कमर्शियल फ्लाइट दिसंबर 2011 में शुरू की थी. लेकिन, अपने बिकनी कन्सेप्ट और एयर होस्टेसेस के ड्रेस कोड के कारण कम समय में ज्यादा उपलब्धि हासिल की और देश की दूसरी सबसे बड़ी एयरलाइन बन गई.

सोशल मीडिया पर हुई थी किरकिरी

साल के शुरुआत में Vietjet की ओछी मार्केटिंग के लिए सोशल मीडिया पर जमकर किरकिरी हुई थी. एयरलाइन ने फुटबौल टीम के वेलकम के लिए एयरहोस्टेस को स्वीमिंग कौस्ट्यूम्स में भेजा था. हालांकि, एयरलाइन ने एयर होस्टेस को बिकनी पहनाकर शुरुआत में सुर्खियां बटोरी थीं. लेकिन, ज्यादातर सोशल मीडिया प्लेटफौर्म पर उसके इस तरीके को गलत बताया गया था.

Tags: