शेयर बाजार में उत्साह का माहौल है. सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू होने के बाद बौंबे स्टौक एक्सचेंज यानी बीएसई ने एक सप्ताह में 700 अंक की 7 माह में सब से बड़ी साप्ताहिक छलांग लगाई. इस से पता चलता है कि शेयर बाजार सातवें आसमान का रुख किए हुए है. इस की बुनियाद में आर्थिक सुधार की सतत प्रक्रिया के साथ ही वस्तु एवं सेवा कर यानी जीएसटी विधेयक पारित कराने के लिए कांगे्रस का नरम रुख, मानसून की भारी बारिश और बारिश घाटा 18 फीसदी से घट कर 16 प्रतिशत ही रहने के नए अनुमान के चलते विकास दर के बेहतर रहने की उम्मीद शामिल हैं.

इस के अलावा रिजर्व बैंक की वित्तीय स्थिरता रिपोर्ट यानी एफएसआर में देश की अर्थव्यवस्था के मजबूत रहने का भी बाजार पर बड़ा असर रहा. ब्रिटेन के जनमत संग्रह से पहले वैश्विक बाजारों की तरह बीएसई में भी खलबली रही लेकिन बाद में सुधारों तथा वेतन आयोग की खबरों ने बाजार की रौनक बढ़ा दी और 4 जुलाई तक बाजार लगातार 8 सत्र तेजी पर बंद हुआ. निफ्टी में भी उस दौरान तेजी का रुख रहा और सूचकांक पहली जुलाई को 10 माह के उच्चतम स्तर को पार कर गया.