भारत में लोग अच्छा घर बनाने के लिए खूब पैसा खर्च कर देते हैं लेकिन जब उस घर की सुरक्षा की बात आती है तो वह उस पर उतना ध्यान नहीं देते. वह अपने घर की सुरक्षा के लिए होम इंश्योरेंस लेने में पैसा खर्च नहीं करते. होम इंश्योरेंस लेने के बहुत फायदे हैं. आप एक प्राकृतिक आपदा से अपने घर की रक्षा नहीं कर सकते, लेकिन आप उसकी मरम्मत या उसे फिर से बनाने का खर्च इंश्योरेंस के माध्यम से कवर कर सकते हैं.

क्या है होम इंश्योरेंस पालिसी

होम इंश्योरेंस एक प्रभावी टूल होता है जो किसी भी संभावित आपदा से आपके घर को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करता है. अगर अर्थव्यवस्था के लिहाज से देखें तो आज के समय में लोग अपने लक्ष्यों (बुनियादी जरूरतों) को आसानी से और समय पूर्व प्राप्त कर रहे हैं. बीते कुछ दशकों में भवन निर्माण में भी तेजी आई है और लोग घरों (फ्लैट या मकान) की खरीद बहुत ही आसानी से कर पा रहे हैं लिहाजा इस तरह की संपत्ति की सुरक्षा भी काफी अहम हो जाती है.

क्यों जरूरी है होम इंश्योरेंस पालिसी

हाल ही में आईं कुछ प्राकृतिक आपदाओं के कारण आर्थिक नुकसान और बीमित नुकसान के बीच अंतर पाया गया है. ऐसा फाइनेंशियल टूल की पर्याप्त जानकारी न होने की वजह से देखने को मिलता है. इसलिए प्राकृतिक आपदाओं की सूरत में घर के मालिक को होम इंश्योरेंस न होने के कारण काफी नुकसान उठाना पड़ता है.

जिस तरह से आप अपनी ज्वैलरी की सुरक्षा के लिए उसका बीमा करवाते हैं उसे बैंक लौकर में रखवाते हैं ठीक उसी तरह घर का बीमा भी आज के दौर में काफी अहम हो चला है. आप घर के बीमा के साथ साथ घर में उपलब्ध सामानों जैसे कि होम अप्लाइंस, पोर्टेबल इक्विपमेंट (सेलफोन, लैपटाप और टीवी) की सुरक्षा को भी सुनिश्चित कर सकते हैं.

क्लेम करने का तरीका

हमारे देश में होम इंश्योरेंस बहुत ज्यादा महंगा नहीं है, इसलिए हमेशा आवश्यक ऐड-औन के साथ एक होम इंश्योरेंस पौलिसी लेने की सलाह दी जाती है ताकि भारी नुकसान होने पर आप आसानी से भारी मरम्मत का खर्च उठा सकें.

बारिश के कारण हुए सभी नुकसान के कागजात तैयार करें. आप उनकी फोटो ले सकते हैं या एक वीडियो भी बना सकते हैं.

सभी क्षतिग्रस्त वस्तुओं को निरीक्षण के लिए संभाल कर रखें.

क्लेम से संबंधित सभी दस्तावेजों को भावी उपयोग के लिए संभाल कर रखना चाहिए.

अस्थायी उपयोग के लिए आपको जिन-जिन चीजों की मरम्मत करनी है उन सभी चीजों की एक सूची बनाकर रखें.

Tags: