बौलीवुड और छोटे परदे की चर्चित अदाकारा रीता भादुड़ी का 62 वर्ष की उम्र में आज सुबह मुंबई के सुज्वाय अस्पताल में किडनी की बीमारी के चलते निधन हो गया. पिछले दस दिनों से इस अस्पताल में उनका किडनी का इलाज चल रहा था. शुरू से ही जुझारू रही रीता भादुड़ी अंतिम समय तक काम करती रहीं. इन दिनों वह ‘‘स्टार भारत’’ पर प्रसारित हो रहे सीरियल ‘‘निमकी मुखिया’’ में दादी यानी कि इमरती देवी के किरदार को निभा रही थीं.

अपनी बीमारी की वजह से उन्हें काम करने में दिक्कत हो रही थी. इसके बावजूद वह लगातार काम करती रहीं. उन्होंने कुछ लोगों से कहा था- ‘‘बुढ़ापे में होने वाली बीमारी के डर से क्या काम करना छोड़ दें. मुझे काम करना व व्यस्त रहना पसंद है. मुझे हर समय अपनी हालत पर सोचना पसंद नहीं. इसलिए मैं खुद को व्यस्त रखती हूं.’’

रीता भादुड़ी ने यह कोई नई बात नहीं कही थी. हमें याद है रीता भादुड़ी शुरू से ही मेहनत कश व ईमानदार कलाकार रही हैं. रीता भादुड़ी से हमारी पहली मुलाकात 1987 में निर्माता राकेश चौधरी के शिक्षा जगत पर आधारित सीरियल ‘‘चुनौती’’ के सेट पर हुई थी. उसके बाद भी उनसे हमारी काफी मुलाकातें होती रहीं है, इन मुलाकातों पर बाद में बात करेंगे. सीरियल ‘चुनौती’ में उन्हें काफी पसंद किया गया था. इसके बाद रीता भादुड़ी ने काफी जटिल किरदार राकेश चौधरी निर्देशित सीरियल ‘‘मुजरिम हाजिर है’’ में निभाते हुए काफी शोहरत बटोरी थी. हमने उन्हें हमेशा सेट पर ही पाया था. वह कभी भी मेकअप रूम में आराम करने नहीं जाती थीं. उनका सीन न होने पर भी वह सेट पर बैठी रहती थीं. उनका शुरू से ही मानना रहा है कि मेहनत का कोई विकल्प नहीं है. हर इंसान को सदैव काम करते हुए खुद को व्यस्त रखना चाहिए.

रीता भादुड़ी ने अपने अभिनय करियर की शुरुआत 1968 में फिल्म ‘‘तेरी तलाश’’से की थी. उसके बाद वह पुणे फिल्म इंस्टीट्यूट में ट्रेनिंग लेने पहुंच गयी थीं. उसके बाद 1974 में फिल्म ‘‘कन्याकुमारी’’ से उनके अभिनय करियर की शुरुआत हुई थी. तब से अब तक रीता भादुड़ी ने लगभग सत्तर फिल्मों में अभिनय किया. वह मूलतः बंगाली थीं, पर गुजराती भाषा की फिल्मों में उन्होंने इतना काम किया कि काफी लोग उन्हें गुजराती भाषी अभिनेत्री तक मानते रहे हैं. उनकी चर्चित फिल्मों में ‘‘जूली’, ‘उधार का सिंदूर’, ‘कालेज गर्ल’, ‘सावन को आने दो’, ‘बेटा’, ‘राजा’,  ‘मां की ममता’, ‘विरासत’, ‘हीरो नंबर वन’रही हैं. वह 2012 में प्रदर्शित फिल्म ‘‘कवि रीते जैस’’ में नजर आयी थी.

फिल्मों के अलावा छोटे परदे पर भी रीता भादुड़ी ने काफी काम किया. ‘चुनौती, ‘मुजरिम हाजिर’के अलावा ‘रिश्ते’, ‘खिचड़ी’, ‘छोटी बहू’, ‘अमानत’, ‘हम सब बाराती’, ‘एक महल हो सपनों का’, ‘साराभई वर्सेस साराभाई’, ‘काजल’और ‘नेमकी मुखिया’ सहित कई लोकप्रिय सीरियलों में अभिनय किया था.

रीता भादुड़ी के निधन पर अनिल कपूर, जरीना वहाब, जुही परमार, रूबीना दलाइक, शिवानी चक्रवर्ती सहित तमाम बौलीवुड और टीवी उद्योग से जुड़े कलाकारों ने अपना दुःख प्रकट किया है.

Tags: