सरिता विशेष

राम गोपाल वर्मा और विवादों का चोली दामन का साथ है. राम गोपाल वर्मा हमेशा अपने बयानों की वजह से खुद को सूर्खियों में बनाए रखते हैं. संजय दत्त की बायोपिक फिल्म ‘‘संजू’’ के प्रदर्शन के तीन सप्ताह बाद राम गोपाल वर्मा ने ऐलान किया है कि वह संजय दत्त पर दूसरी बायोपिक फिल्म बनाने जा रहे हैं, जिसमें वह संजय दत्त की वास्तविक कहानी को पेश करेंगें. राम गोपाल वर्मा के इस ऐलान के बाद बौलीवुड और संजय दत्त के परिवार के अंदर भूकंप सा आ गया है. मजेदार बात यह है कि राम गोपाल वर्मा ने उस वक्त संजय दत्त पर बायोपिक फिल्म बनाने का ऐलान किया है, जब संजय दत्त फिल्म‘संजू’में पत्रकारों को गलत ढंग से चित्रित किए जाने के सवालों का सामना नहीं कर पा रहे हैं. अब संजय दत्त और उनके परिवार के लोगों को लग रहा है कि यदि मीडिया व सारे पत्रकार इसी तरह फिल्म ‘संजू’ में मीडिया के गलत चित्रण को आधार बनाकर हंगामा खड़ा करते रहे, तो उनकी और राज कुमार हिरानी की संजय दत्त के ईमेज को साफ सुथरा बनाने की सारी कोशिशों पर पानी फिर जाएगा.

इसी डर के चलते अब संजय दत्त ने एक अखबार को दिए इंटरव्यू में यह कह कर मामले को दबाने का प्रयास किया है कि ‘सिर्फ ईमेज सुधारने के लिए कौन 50 करोड़ खर्च करेगा.’ मगर मामला शात नही हुआ. उल्टे राम गोपाल वर्मा के ऐलान ने पूरे परिवार को संकट में डाल दिया है. अब संजय दत्त और उनकी बहनों को लग रहा है कि यदि राम गोपाल वर्मा ने संजय दत्त का कटु सत्य अपनी फिल्म में पेश कर दिया, तो क्या हो सकता है, इसी कारण संजय दत्त की बहन और अभिनेता कुमार गौरव की पत्नी नम्रता दत्त ने राम गोपाल वर्मा के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए कह दिया है कि राम गोपाल वर्मा को यह कदम नहीं उठाना चाहिए.

नम्रता दत्त का कहना है कि, ‘‘संजय दत्त की जिंदगी का अतीत अब अतीत हो चुका है. वह सब खत्म हो चुका है. संजय दत्त अपनी जिंदगी में काफी आगे बढ़ चुके हैं. इसलिए अब उन्हें उसी को पुनः बाहर लाने का कोई हक नहीं है.’’

इससे पहले फिल्म ‘‘संजू’’ देखकर नम्रता दत्त ने कहा था कि ‘‘मैं फिल्म में परेश रावल को अपने पिता के साथ जोड़कर नहीं देख पायी. कोई भी इंसान मेरे पिता जैसा नहीं हो सकता.’’

बहरहाल, नम्रता दत्त द्वारा राम गोपाल वर्मा के संजय दत्त की बायोपिक बनाने पर एतराज जताने पर बौलीवुड का एक तबका सवाल कर रहा है कि यदि संजय दत्त अपने अतीत को भुलाकर जिंदगी में आगे बढ़ चुके हैं, तो फिर उन्हें राज कुमार हिरानी के माध्यम से अपनी बायोपिक फिल्म बनाने की जरुरत क्यों पड़ी. जब राज कुमार हिरानी ने संजय दत्त की बायोपिक फिल्म ‘संजू’बनायी, तब नम्रता दत्त ने ऐतराज क्यों नही किया था?

वास्तव में नम्रता दत्त के एतराज की वजह सभी जानते हैं. सभी को पता है कि राम गोपाल वर्मा की पहचान डार्क फिल्म बनाने वाले फिल्मकार के तौर पर है. इसलिए वह संजय दत्त की बायोपिक बनाते समय भी संजय दत्त के जीवन की हर सच्चाई को फिल्म में जरुर पेश करेंगे, जो कि नम्रता दत्त ही क्यों संजय दत्त के परिवार का कोई भी सदस्य नहीं चाहेगा.