सरिता विशेष

डायरेक्टर संजय लीला भंसाली की विवादास्पद फिल्म को लेकर आएं दिन कोई न कोई बयान आते रहते हैं. कुछ लोगों ने तो फिल्म के साथ इससे जुड़े किरदारों को भी अपने निशाने पर ले लिया है. ‘पद्मावती’ में रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण और शाहिद कपूर मुख्य किरदार निभा रहे हैं. ऐसे में निर्माता के सिर से लेकर अभिनेत्री को नाक काटने तक की धमकियां दी जा चुकी हैं. लोगों के इसतरह से विरोध प्रदर्शन किये जाने के बाद मुख्य भूमिका निभा रहे कलाकारों ने फिल्म में अपने किरदारों को लेकर अपनी बाते रखी हैं.

जहां हाल ही में दीपिका ने तमाम आलोचनाओं के बीच फिल्म और इसमें अपने किरदार को लेकर बड़ी बेबाकी से अपनी राय रखी थीं, वहीं अब फिल्म में रावल रतन सिंह की भूमिका में नजर आ रहे शाहिद कपूर ने भी अपने किरदार को लेकर अपनी बातें रखीं.

शाहिद ने ‘पद्मावती’ में रानी पद्मावती के पति और योद्धा राजा रावल रतन सिंह के रूप में अपनी भूमिका पर चर्चा करते हुए प्रेरणादायक किरदारों की आवश्यकता पर जोर दिया और उम्मीद जताई कि दर्शक रावल रतन सिंह के रूप में उनके किरदार को समझेंगे. उनका मानना है कि यह एक ऐसा किरदार है जो आजकल के लोगों को ‘बेहतर’ बनने के लिए प्रेरित करेगा.

शाहिद ने कहा, “मुझे याद है जब ‘ग्लैडिएटर’ आई थी और रसल क्रो ने मैक्सिमस की भूमिका निभाई थी. उनका यह किरदार इतना अच्छा लगा था कि इसके वास्तविक होने पर ही संदेह उठ जाए लेकिन इसने मुझे बहुत प्रेरित किया था. यह मेरे लिए बेहद ही मजबूत संदर्भ था क्योंकि मैं हैरान था कि आप ऐसा किरदार किस तरह निभाते हैं. एक ऐसा किरदार जो वाकई इतना अच्छा होता है कि लोगों से जुड़ जाता है.”

उन्होंने कहा कि कभी-कभी सिनेमा में इतनी शक्ति होती है कि वह हमें कुछ कर गुजरने के लिए प्रेरित करती है. बिल्कुल, कुछ अच्छे किरदारों को निभाना किसी भी अभिनेता या अभिनेत्री के लिए बेहद मायने रखता है, जो असली हों.

मालूम हो कि राजस्थान से शुरू हुआ यह हंगामा कई राज्यों में अपने पैर पसार चुका है. फिल्म के विरोध की वजह इतिहास से छेड़छाड़ बताई जा रही है. राजस्थान की करणी सेना और राजपूत समाज का मानना है कि तथ्यों को तोड़ मरोड़कर फिल्म में पेश किया जा रहा है. इस फिल्म को 1 दिसम्बर को रिलीज किया जाना था लेकिन लगातार हो रहे विरोध प्रदर्शन के कारण फिल्म की रिलीज तक टाल दी गई थी.