सरिता विशेष

एक तरफ जान्हवी कपूर अपने करियर की पहली फिल्म ‘‘धड़क’’ के बीस जुलाई को प्रदर्शित होने को लेकर उत्साहित हैं. तो दूसरी तरफ वह सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग से भी दुःखी हैं. जान्हवी कपूर अपने जन्म दिन से लेकर अब तक कई बार सोशल मीडिया पर ट्रोल हो चुकी हैं.

हाल ही में जब जान्हवी कपूर से हमारी मुलाकात हुई, तो हमने सोशल मीडिया पर उनके ट्रोल होने पर सीधा सवाल करने की बजाय उनसे पूछा कि सोशल मीडिया को लेकर आपकी मम्मी आपके उपर निर्भर हुआ करती थीं. आप खुद सोशल मीडिया पर कितना सक्रिय हैं ?’

इस सवाल पर जान्हवी कपूर ने कहा- ‘‘जहां तक सोशल मीडिया का सवाल है तो यह लोगों से जुड़ने के लिए अच्छी चीज है. आप अपने रूम में बैठे हुए दूसरों से संपर्क रख सकते हैं. आप पूरी दुनिया घूम सकते हैं. लेकिन मैं खुद सोशल मीडिया पर बहुत कम सक्रिय रहती हूं. मेरी मम्मी भी सिर्फ फिल्म के प्रदर्शन के वक्त ही सोशल मीडिया पर सक्रिय होती थीं. मुझे लगता है कि सोशल मीडिया यथार्थ से परे है. वहां बनावटी पन ज्यादा है. हर कोई अपनी एक अलग ईमेज/पहचान चित्रित करने की कोशिश करता है. मैं इस बनावटी पन से दूर रहना चाहती हूं.

मेरी राय में सोशल मीडिया एक नकली दुनिया है. सोशल मीडिया पर लोग कुछ भी कहें, उन्हें कोई रोक नहीं सकता. ऐसे में अपराजकता फैल रही है. कुछ लोग आपके सामने आपसे बहुत अच्छा व्यवहार करते हैं. जबकि सोशल मीडिया पर वही लोग आपके खिलाफ बक बक करते हैं. लोगों को लगता है कि सोशल मिडिया पर उन्हें बोलने की आजादी है, इसलिए वह कुछ भी बोल सकते हैं. मुझे उस वक्त बहुत बुरा लगता है, जब कोई न्यूज वेबपोर्टल या न्यूज चैनल सोशल मीडिया की किसी गलत बात को उठाकर उसे खबर के रूप में पेश करता है. कुछ वेबपोर्टल और न्यूज चैनल मानते हैं कि नकारात्मक चीजों को प्रसारित करने से उन्हें पाठक या दर्शक मिल जाएंगे, जो कि गलत है. पर कुछ लोग लोगों की बुराई करने की आदत को बढ़ाते हैं. इस तरह न्यूज चैनल की खबर से नकारात्मक सोच बढ़ाने वाले लोगों को बढ़ावा मिलता है. जबकि हकीकत यह है कि लोग नकारात्मकता की बजाय सकारात्मक चीजें देखना व पढ़ना चाहते हैं. पर हम कुछ कर नहीं पाते.

सोशल मीडिया पर बहकने वालों से मुझे तकलीफ होती है. सोशल मीडिया पर कुछ लोगों की बातें पढ़कर मुझे आश्चर्य होता है कि इस संसार में लोग इतनी नकारात्मक सोच रखते हैं. कभी कभी मुझे लगता है कि उनके मन में कोई फ्रस्टेशन है, जो कि वह मेरे उपर निकाल रहे हैं या शायद मैंने ऐसा कुछ किया है, जिसकी वजह से वह इस तरह की ट्रोलिंग कर रहे हैं. कुछ लोग तो सोशल मीडिया पर मेरे खिलाफ जमकर नकारात्मक बात कर रहे हैं. मेरी समझ में नहीं आ रहा है कि वह ऐसा क्यों कर रहे हैं? यदि लोग मेरा काम देखने के बाद इस तरह की बातें करते, तो मुझे कम आश्चर्य होता. पर उम्मीद करती हूं कि मेरी फिल्म ‘धड़क’के प्रदर्शन के बाद मेरा अभिनय देखकर यह सच को समझकर मेरे खिलाफ नकारात्मक बातें करना बंद कर देंगे.’’

जब हमने जान्हवी से पूछा कि सोशल मीडिया पर जब ट्रोलिंग होती है, तो उन्हे गुस्सा आता है या नही? इस पर जान्हवी ने कहा- ‘‘मैं कुछ कर नहीं सकती. क्योंकि सामने वाले को खुद ही निर्णय लेना है कि उसे मेरे संबंध में क्या लिखना है. पर मुझे फिल्म ‘धड़क’से अपने आपको साबित करने का मौका मिला है. उम्मीद है कि इस फिल्म के प्रदर्शन के बाद मुझे ट्रोल करने वाले लोग अपनी गलती का अहसास करेंगें.’’