सुपरस्टार रजनीकांत का आज अपना 67वां जन्मदिन मना रहे हैं. सुपरस्टार रजनीकांत सिनेमा की दुनिया के जगमगाते सितारे हैं. रजनीकांत के फैंस उन्हें न सिर्फ पसंद करते हैं बल्कि उन्हें पूजते भी हैं. रजनीकांत को थलैवा के नाम से भी जाना जाता है, थलैवा का मतलब बौस, नेता इत्यादि होता है  लेकिन रजनीकांत के लिये इस शब्द का प्रयोग लोग उन्हे इज्जत देने के लिये करते है जैसे कि सर रजनीकांत. रजनीकांत आज इतने बड़े सुपरस्टार होने के बावजूद जमीन से जुड़े हुए हैं.

सुपरस्टार होने के बाद भी रजनीकांत एक आम व्यक्ति की तरह ही रहना पसंद करते हैं. उन्हें ये मुकाम ऐसे ही हासिल नहीं हुआ. साउथ के इस सुपरस्टार ने इसके लिए कड़ी मेहनत की है. रजनीकांत ने एक बढ़ई, बेंगलुरु परिवहन सेवा (बीटीएस) के एक मामूली बस कंडक्टर और कुली से सुपरस्टार बनने तक का सफर तय किया है.

रजनीकांत का जन्म बंगलुरु में 12 दिसंबर 1950 को हुआ. मां जीजाबाई और पिता रामोजी राव गायकवाड़ बचपन में उन्हें शिवाजी राव गायकवाड़ कहकर पुकारते थे. शिवाजी के पिता पेशे से एक हवलदार थे. वहीं 4 साल की उम्र में ही शिवाजी ने अपनी मां को खो दिया था. अपने भाई बहनों में रजनीकांत की सबसे छोटे थे. इस दौरान घर की माली हालत भी कुछ ठीक नहीं थी. परिवार में सबसे छोटे होने के बाद भी उन्होंने इस बारे में सोचा. इस दौरान उन्होंने कुली बन कर लोगों का सामान उठाने का काम भी किया.

रजनीकांत ने अपने करियर की शुरुआत पौराणिक कन्नड़ नाटकों से की थी. इस दौरान वह दुर्योधन बने थे. वहीं उनके जिगरी दोस्त राज बहादुर हमेशा उनके साथ रहते थे. वह अक्सर उन्हें इस क्षेत्र में बेहतर करने के लिए बढ़ावा देते रहते थे. इसके लिए उन्होंने रजनीकांत को मद्रास फिल्म इंस्टीट्यूट में दाखिला लेने के लिए कहा.

इस दौरान कन्नड़ नाटक करते हुए उन्हें डायरेक्टर के. बालचंदर ने नोटिस किया. प्ले खत्म होने के बाद जाते-जाते डायरेक्टर ने उनसे कहा कि, ‘तमिल सीखो’. और फिर क्या था सुपरस्टार रजनीकांत ने तमिल भी सीखा, उसके बाद डायरेक्टर के. बालचंदर के फिल्मों में उन्होंने कई निगेटिव रोल किये, निगेटिव रोल करने के बाद उन्हें एसपी मुथुरमन का पौजीटिव रोल प्ले करने का पहला मौका मिला.

मुंदरू मुगम में रजनीकांत ने ट्रिपल रोल प्ले किया था. इसके लिए उन्हें तमिलनाडू सरकार से बेस्ट एक्टर का अवौर्ड भी मिला था. रजनीकांत ने बौलीवुड में फिल्म ‘अंधा कानून’ से डेब्यू किया. वहीं रजनीकांत साल 1988 में एक अंग्रेजी फिल्म में भी नजर आए- ‘एडवेंचर ब्लडस्टोन’. सुपरस्टार रजनी ने तमिल, हिंदी, मलयालम, कन्नड़ और तेलुगू के अलावा बंगाली फिल्म ‘भाग्य देवता’ में भी काम किया. रजनीकांत अक्सर अपनी फिल्मों के रिलीज होने के बाद हिमालय की वादियों में जाना पसंद करते हैं.

वहीं दूसरी और उनके जन्मदिन के अवसर पर रजनीकांत की अपकमिंग फिल्म ‘काला’ का दूसरा पोस्टर भी रिलीज कर दिया गया है. इस फिल्म के प्रोड्यूसर धनुष ने ‘काला’ के पोस्टर का पहला लुक रिलीज किया था. यह फिल्म अगले साल रिलीज होने वाली है. जारी किए गए फिल्म के दूसरे लुक में रजनीकांत एग्रेसिव एक्सप्रेशन बनाए हुए हैं. रजनीकांत ने काला चश्मा और काली शर्ट पहनी है, जिसमें वह बहुत हैंडसम लग रहे हैं. वहीं नीचे पोस्टर पर लाल रंग से लिखा गया है, ‘काला’.

बता दें, जल्द ही सुपरस्टार रजनीकांत की फिल्म 2.0 भी आने वाली है. रजनीकांत के अलावा फिल्म में अक्षय कुमार और एमी जैक्सन भी हैं. इस फिल्म का दर्शकों को बड़ी ही बेसब्री से इंतजार है. फिल्म की दो बार रिलीज डेट सामने आ चुकी है. जिसने दर्शकों को काफी उत्साहित किया था लेकिन उनकी यह खुशी थोड़े से ही समय के लिए रही क्योंकि दोनों बार रिलीज डेट आगे खिसका ली गई. अब फिल्म की तीसरी रिलीज डेट सामने आई है जो 27 अप्रैल है. रिलीज डेट खिसकाने की वजह है एक अमेरिकी कंपनी जिसे कि फिल्म के वीएफएक्स का काम दिया गया था.

कंपनी ने अभी तक इसका काम पूरा नहीं किया है इसी वजह से फिल्म रिलीज नहीं हो पा रही है. 2.0 से जुड़े एक सूत्र ने बताया- वीएफएक्स की डिलिवरी अभी तक अमेरिकन कंपनी ने नहीं दी है, जिसे की पूरी फिल्म के स्पेशल इफेक्ट्स का काम करने का जिम्मा दिया गया था. इसी वजह से हमें फिल्म में से 1000 शौट्स निकालकर उन्हें 10 विभिन्न वीएफएक्स कंपनियों को 100 शौट्स भेजने पड़े हैं.

उन्होंने हमसे 90 प्रतिशत राशि एडवांस के तौर पर ले ली थी और डेडलाइन पर काम पूरा करके नहीं दिया. मैं आपको बताता हूं कि उन्होंने हमें धोखा दिया है और अब हम उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने के बारे में प्लानिंग कर रहे हैं.